उद्धव ठाकरे का BJP पर निशाना, बोले- पहले शिवसेना फिर NCP को तोड़ा और अब महाराष्ट्र को तोड़ना चाहती है बीजेपी

अजित पवार समेत 9 NCP विधायक बीती रविवार को महराष्ट्र सरकार में शामिल हो गए थे। अजित पवार के एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार में डिप्टी सीएम बनने के बाद एनसीपी में दोफाड़ हो गए हैं। डिप्टी सीएम पद की शपथ लेने के बाद बाद एनसीपी पर अजित पवार ने दावा ठोक था।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में सियासी उठापटक के बीच शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एनसीपी में हुई टूट पर पहली प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी ने शिवसेना और एनसीपी को तोड़ दिया है। उद्धव ठाकरे ने कहा, “वे महाराष्ट्र के खिलाफ हैं। उन्होंने पहले शिवसेना और अब एनसीपी को तोड़ दिया। वे महाराष्ट्र को तोड़ना चाहते हैं और ऐसा कोई नहीं चाहते जो उन्हें बाहर निकलने से रोक सके।”

NCP पर कब्जे की लड़ाई जारी है

अजित पवार समेत 9 एनसीपी विधायक बीती रविवार को महराष्ट्र सरकार में शामिल हो गए थे। अजित पवार के एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार में डिप्टी सीएम बनने के बाद एनसीपी में दोफाड़ हो गए हैं। डिप्टी सीएम पद की शपथ लेने के बाद बाद एनसीपी पर अजित पवार ने दावा ठोक था। तब से एनसीपी के नेतृत्व पर कब्जा बनाए रखने की सियासी लड़ाई जारी है। अजित ने खुद को एनसीपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित करवा लिया है और चुनाव आयोग में पार्टी को लेकर अपना दावा ठोंक दिया है। वहीं, शरद पवार भी चुनाव आयोग की शरण में पहुंचे हैं। ये तमाम चीजें ठीक वैसे ही घटित हो रही हैं, जैसे शिवसेना के साथ हुई थीं।


शिवसेना शिंदे गुट के विधायक हैं नाराज?

अजित पवार और उनके साथियों के महाराष्ट्र सरकार में शामिल होने के बाद से यह खबरें आ रही हैं कि शिंदे गुट के विधायक नाराज हैं। बुधवार को शिवसेना (शिंदे गुट) के नेता संजय शिरसाट ने इस संबंध में खुलकर बात की थी। उन्होंने कहा था कि राजनीति में जब भी हमारा प्रतिद्वंद्वी हमारे साथ आना चाहता है तो हमें उन्हें शामिल करना पड़ता है और बीजेपी ने यही किया। लेकिन एनसीपी नेताओं के साथ आने के बाद हमारे नेता नाराज हैं। क्योंकि एनसीपी के शामिल होने के बाद हमारे कुछ नेताओं को मनचाहा पद नहीं मिलेगा। यह सच नहीं है कि हमारे सभी नेता एनसीपी के हमारे साथ आने से खुश हैं। उन्होंने कहा कि हमने सीएम और डिप्टी सीएम को भी इसकी जानकारी दे दी है और उन्हें इस मुद्दे को हल करना होगा।

शिरसाट के इस बयान के बाद शिंदे गुट में खलबली मच गई थी। सीएम एकनाथ शिंदे को अपने विधायकों के साथ बैठक करनी पड़ी थी। बैठक के बाद उन्होंने विधायकों की नाराजगी पर बयान दिया था। उन्होंने इस खबर का खंडन करते हुए कहा था कि उनके विधायक नाराज नहीं और उनकी पार्टी एनसीपी के साथ मिलकर काम करने को तैयार है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;