महिलाओं को नहीं मिली रही उज्ज्वला गैस की सब्सिडी, दाम भी बढ़े, सिलेंडर बेचने को हो रहीं मजबूर!

पेट्रोल-डीजल के साथ-साथ रसोई गैस की कीमतों ने भी लोगों का बजट बिगाड़ दिया है। रसोई गैस की बढ़ी हुई कीमतों के खिलाफ लोग सड़क पर उतर रहे हैं। पटना सिटी में उज्जवला योजना के तहत कनेक्शन लेने वाली महिलाएं सड़क पर उतरीं।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

पेट्रोल-डीजल के साथ-साथ रसोई गैस की कीमतों ने भी लोगों का बजट बिगाड़ दिया है। रसोई गैस की बढ़ी हुई कीमतों के खिलाफ लोग सड़क पर उतर रहे हैं। पटना सिटी में उज्जवला योजना के तहत कनेक्शन लेने वाली महिलाएं सड़क पर उतरीं। कतार में बैठी महिलाएं सिलेंडर खरीदो-सिलेंडर खरीदो की आवाज लगा रही थीं। उनका कहना है कि सरकार ने पिछले 8 महीने से सब्सिडी बंद कर रखी है। अब रसोई गैस के दाम बढ़ाकर आम आदमी की कमर तोड़ दी है।

जनसत्ता की खबर के मुताबिक सिलेंडर की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी से महिलाएं बेहद नाराज हैं। महिलाओं ने कहा कि कि तीन महीने में सिलेंडर की कीमत 2 सौ रुपए बढ़ा दी गई। पहले सिलेंडर 742 रुपए का था तो सब्सिडी 245.20 रुपए मिलती थी। अब सिलेंडर का दाम 892.50 रुपए हो गया है, लेकिन सब्सिडी घटाकर 79.26 रुपए कर दी गई है। महिलाओं का कहना था कि जब वो सिलेंडर को भरवा नहीं सकतीं तो खाली सिलेंडर घर में रखने का क्या फायदा है। इसलिए वो सड़क पर बैठकर सिलेंडर खरीदने के लिए लोगों को आवाज लगा रही हैं।


सीईईडब्ल्यू- यानी काउंसिल ऑन एनर्जी, एनवायरॉन्मेंट ऐंड वाटर- की ओर से कराए गए सर्वेक्षण के मुताबिक खाना पकाने के लिए कोयले-लकड़ी का इस्तेमाल करने वाले घरों का अनुपात 2015 में 85% था जो 2018 में घट कर 61% रह गया। रिपोर्ट के मुताबिक, 2015 में 88% घरों का कहना था कि एलजीपी कनेक्शन का इस्तेमाल न करने की वजह इसका महंगा पड़ना है। 2018 में ये तादाद बस एक फ़ीसदी घट कर 87% रह गई। यानि महंगा होने की वजह से मुफ्त में मिले सिलेंडर का भी लोग इस्तेमाल नहीं कर रहे।

बता दें कि मोदी सरकार ने 2016 में उज्ज्वला योजना शुरू की थी। इस योजना का सरकार ने जोर शोर से प्रचार प्रसार भी किया था। पीएम मोदी ने यह योजना पूर्वी उत्तर प्रदेश के बलिया ज़िले से शुरू की थी। लेकिन, आज हाल ये है कि ये महिलाएं अब अपनी सिलेंडर बेचने को तैयार हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia