यूक्रेन का सनसनीखेज दावा: चेरनोबिल परमाणु संयंत्र पर आतंकी हमले की तैयारी कर रहे पुतिन

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने यूक्रेन स्थित चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयत्र पर आतंकी हमले की योजना बनाई है और इसका दोष यूक्रेन के सिर मढ़ने की साजिश रची गई है। यूक्रेन ने यह सनसनीखेज दावा अपनी खुफिया एजेंसियों से मिली रिपोर्ट के आधार पर किया है।।

फोटो : आईएएनएस
फोटो : आईएएनएस
user

नवजीवन डेस्क

यूक्रेन ने सनसनीखेज दावा करते हुए कहा है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन यूक्रेन के चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा प्लांट के निषेध क्षेत्र पर आतंकवादी हमला करने की योजना बना रहे हैं। और इसके साथ ही यूक्रेन पर इस हमले का दोष देने का प्लान बनाया गया है। यूक्रेन ने अपनी खुफिया एजेंसियों के हवाले से यह दावा किया है। यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा, "उपलब्ध जानकारी के अनुसार, व्लादिमीर पुतिन ने चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर आतंकवादी हमले की तैयारी का आदेश दिया है।"

उक्रेंस्का प्रावडा ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया कि रूसी नियंत्रित चोरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र एक मानव निर्मित आपदा पैदा करने की योजना बना रहा है, जिसके लिए आक्रमणकारी यूक्रेन पर जिम्मेदारी डालने करने का प्रयास करेंगे। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि चूंकि उन्हें सैन्य जमीनी अभियान या सीधी बातचीत से वांछित परिणाम नहीं मिल रहा है, इसलिए पुतिन यूक्रेन के समर्थन में रियायतों के लिए विश्व समुदाय के खिलाफ परमाणु ब्लैकमेल का सहारा लेने के लिए तैयार हैं।

यूक्रेन के अधिकारियों ने कहा, "अब यूक्रेन, दुनिया और रूस खुद समझते हैं कि परमाणु खतरे के निर्माण में यूक्रेन की भागीदारी के बारे में बयान केवल एक सामान्य परिदृश्य का मंचन है।" संयंत्र में वर्तमान में बिजली सप्लाई कट चुकी है और यह अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) निगरानी प्रणाली से डिस्कनेक्ट यानी कट चुका है। यह भी दावा किया गया है कि रूसी हमलावर यूक्रेनी मरम्मत दल (रिपेयर क्रू) को अनुमति नहीं दे रहे हैं। इसके बजाय, बेलारूस से तथाकथित 'परमाणु ऊर्जा विशेषज्ञ' आए हैं, लेकिन उनकी आड़ में, रूसी विनाशकारियों के समूह एक आतंकवादी हमले की योजना बना रहे हैं। यूक्रेन का दावा है कि यूक्रेन को बदनाम करने के लिए रूसी आक्रमणकारी आतंकवादी हमले में यूक्रेनी रक्षकों की संलिप्तता के फर्जी 'सबूत' तैयार कर रहे हैं।


रिपोर्ट में कहा गया है कि कथित तौर पर, गोस्टोमेल में एंटोनोव हवाई अड्डे के क्षेत्र में, यूक्रेन के मुख्य खुफिया निदेशालय के स्काउट्स ने रूसी कब्जे वालों की रेफ्रिजरेटर कारों को देखा। यूक्रेनी खुफिया की उपलब्ध जानकारी के अनुसार, रूसी ढेर हुए यूक्रेनी सैनिकों के शवों को चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र में ले जाने के लिए एकत्र कर रहे हैं और उन्हें प्रचार के लिए 'यूक्रेन के मारे गए तोड़फोड़ करने वालों' के रूप में दिखा रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia