गडकरी का मोदी पर बड़ा हमला, कहा- सपने वही दिखाओ जो पूरे हो सकें, नहीं तो जनता करती है पिटाई

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इशारों में अपनी पार्टी बीजेपी और पीएम मोदी पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा कि नेताओं को वही वादे करने चाहिए जिसे वह पूरा कर सकें। क्योंकि जब अच्छे दिनों के वादे पूरे नहीं होते तो जनता पिटाई भी करती है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एक बार फिर पीएम मोदी पर इशारों ही इशारों में बड़ा हमला बोला है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा, “सपने दिखाने वाले नेता लोगों को अच्छे लगते हैं, लेकिन दिखाए हुए सपने अगर पूरे नहीं किए जाएं तो जनता उनकी पिटाई भी करती है। इसलिए सपने वहीं दिखाओ जो पूरे हो सकें। मैं सपने दिखाने वालों में से नहीं हूं। मैं जो बोलता हूं 100 फीसदी डंके की चोट पर पूरा करता हूं।”

नितिन गडकरी के इस बयान को सीधे तौर पर पीएम मोदी से जोड़कर देखा जा रहा है। क्योंकि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने चुनावी सभाओं में जनता को ‘अच्छे दिन’ के सपने दिखाए थे। उस दौर में बीजेपी द्वारा प्रदर्शित विज्ञापनों में भी ‘अच्छे दिनों’ का वादा किया गया था। हाल में आए एक सर्वे जब जनता से पूछा गया था कि मोदी सरकार में आपके अच्छे दिन आ तो लोगों का जवाब ना में था।

ऐसा नहीं है कि नितिन गडकरी ने पीएम मोदी पर इशारों में पहली बार निशाना साधा है। इससे पहले भी गडकरी पीएम मोदी पर निशाना साध चुके हैं। पिछले साल अक्टूबर के महीने में एक मराठी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में गडकरी ने ‘जुमाल’ शब्द, पीएम मोदी और उनकी सरकार की पोल खोलकर रख दी थी। उन्होंने चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था, “उन्हें तो कभी उम्मीद ही नहीं थी कि वे सत्ता में आ जाएंगे। फिर लोगों ने कहा कि लंबे-लंबे वादे करना शुरू कर दो। अगर पूरे नहीं हुए तो कौन सा हम सत्ता में आने वाले थे जिन्हें पूरा करना था।” उन्होंने आगे कहा, “लोगों ने सचमुच वोट देकर सत्ता में पहुंचा दिया।“ यह कहकर नितिन गडकरी जोर से हंस पड़ते थे। इसके बाद जब पूछा गया कि अब जब लोग याद दिलाते हैं तो आप क्या करते हैं, तो उनका जवाब था कि हम भी हंस देते हैं और आगे बढ़ जाते हैं। गडकरी के इंटरव्यू का वीडियो कांग्रेस पार्टी ने अपने ट्विटर हैडल से ट्वीट किया था।

लगातार गडकरी, पीएम मोदी और अपनी खुद की सरकार पर इशारों-इशारों में हमले करते आ रहे हैं। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से नितिन गडकरी को प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाए जाने की मांग हो रही है। महाराष्ट्र के ही कुछ बीजेपी नेताओं ने इस तरह की मांग की है। कहा जाता है कि गडकरी आरएसएस के करीबी नेताओं में से एक हैं। ऐसे में सवाल यह कि क्या जनता में घटती नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के बीच 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में आरएसएस, गडकरी को पीएम उम्मीदवार बनाने की तैयारी में है, ताकि एक बार फिर बीजेपी को सत्ता मिल सके।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 27 Jan 2019, 8:00 PM