Getting Latest Election Result...

‘पाक-चीन’ वाले बयान पर घिरे मोदी के मंत्री, किसान नेता बोले- ये अन्नदाता का अपमान, राउत ने कहा- करो सर्जिकल स्ट्राइक

केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे के बयान पर अखिल भारतीय किसान सभा हन्नान मोल्लाह ने कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा, “यह भारतीय किसानों का अपमान है। किसान अपने हितों के लिए आंदोलन कर रहे हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसान पिछले 15 दिन से डटे हुए हैं। किसानों की मांगों का हल निकालने में मोदी सरकार पूरी तरह से नाकाम रही है। अब मोदी सरकार के मंत्री किसानों के आंदलोन को बंदनाम करने में जुटे हुए हैं। किसानों के आंदोलन के पीछे पाकिस्तान और चीन का हाथ है, यह दावा कर केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे चौतरफा घिर गए हैं।

केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे के बयान पर अखिल भारतीय किसान सभा हन्नान मोल्लाह ने कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा, “यह भारतीय किसानों का अपमान है। किसान अपने हितों के लिए आंदोलन कर रहे हैं, और किसी भी अन्य ताकत के बारे में परेशान नहीं हैं।”


वहीं, शिवसेना नेता संजय राउत ने तंज कसते हुए कहा, “अगर केंद्रीय के एक मंत्री यह जानकारी देते है कि यह जो किसान आंदोलन चल रहा इसके पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ है, तो रक्षा मंत्री को तुरंत चीन और पाक पर सर्जिकल स्ट्राइक करना चाहिए और राष्ट्रपति, रक्षा मंत्री,प्रधानमंत्री, गृह मंत्री को इस मुद्दे पर गंभीरता से विचार करना चाहिए।”

केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने दावा किया है कि किसान आंदोलन के पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ है। दानवे ने कहा, “जो आंदोलन चल रहा है, वह किसानों का नहीं है। इसके पीछे चीन और पाकिस्तान का हाथ है। इस देश में मुसलमानों को पहले भड़काया गया। (उन्हें) क्या कहा गया? एनआरसी आ रहा है, सीएए आ रहा है और 6 महीने में मुसलमानों को इस देश को छोड़ना होगा। क्या एक भी मुस्लिम ने देश छोड़ा? वे प्रयास सफल नहीं हुए और अब किसानों को बताया जा रहा है कि उन्हें नुकसान सहना पड़ेगा. यह दूसरे देशों की साजिश है।”

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia