विकलांगों के कार्यक्रम में बोले केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो, ‘अगर हिले तो टांग तोड़ दूंगा’

“क्या हुआ तुम्हें? कोई दिक्कत है? मैं तुम्हारी एक टांग तोड़ सकता हूं।” यह कहना था केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो का। सुप्रियो ने यह बात पश्चिम बंगाल के आसनसोल में आयोजित विकलांगों के एक कार्यक्रम में कही।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियों अकसर अपने बयानों को लेकर विवाद खड़े करते रहते हैं। ताजा मामला मंगलवार (18 सितंबर) का है। पश्चिम बंगाल के आसनसोल में विकलांगों के लिए आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान एक शख्स को धमकाते हुए कहते सुनाई दिए। उन्होंने कहा, “क्या हुआ तुम्हें? कोई दिक्कत है? मैं तुम्हारी एक टांग तोड़ सकता हूं।”

एक अंग्रेजी न्यूज चैनल ने भी बाबुल सुप्रियो के इस बयान को प्रमुखता से प्रसारित किया। चैनल पर दिखाए गए वीडियो में बाबुल सुप्रियो कहते हुए दिख रहे हैं कि, “क्या हुआ तुम्हें? कोई दिक्कत है? मैं तुम्हारी एक टांग तोड़ सकता हूं और उसके बाद तुम्हें थोड़ी प्रैक्टिस कराऊंगा। यहां आकर खड़े हो जाओ। अगली बार जब तुम यहां से हिले भी तो मैं तुम्हारी एक टांग तोड़ दूंगा। इन लोगों को डंडा दे दूंगा जिससे वे तुम्हारी पिटाई लगाएंगे।”

चैनल का कहना है कि बाबुल सुप्रियो सरकार द्वारा आसनसोल में आयोजित कार्यक्रम में विकलांगों को व्हीलचेयर बांटने गए थे। चैनल ने कहा है कि, “एक आदमी स्टेज के एक तरफ से दूसरी तरफ जा रहा था, मंत्री जी इसी से झुंझला गए और उन्होंने इस व्यक्ति को धमकी दे डाली। लेकिन उनकी बात कैमरे में रिकॉर्ड हो गई।” चैनल के रिपोर्टर का कहना था कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी क्योंकि जिस कार्यक्रम में बाबुल सुप्रियो ने इस व्यक्ति को धमकाया वह विकलांगों के लिए आयोजित किया गया था। रिपोर्टर के मुताबिक बाबुल सुप्रियो ने इसके बाद अपने सुरक्षा गार्डों को हिदायत दी कि अगर यह आदमी दोबारा खड़ा हुआ दिखे तो इसकी टांग तोड़ देना और इसे बैसाखी दे देना। रिपोर्टर ने कहा कि, “यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण मामला है जहां एक केंद्रीय मंत्री मुख्य अतिथि के तौर पर विकलांगों को व्हीलचेयर बांटने आए थे और उन्होंने ऐसी बात कही।”

लेकिन, मामला तूल पकड़ता देख बाबुल सुप्रियों ने इस बयान को स्वीकारते हुए विवाद खत्म करने की कोशिश की। उन्होंने अंग्रेजी चैनल के ट्वीट के जवाब में लिखा, “अरे माइ डियर टाइम्स नाउ के दोस्तों, यह सिर्फ एक मजाक था, अरे भाई ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए आज की और भी कई खबरे मिल जाएंगी।”

लेकिन केंद्रीय मंत्री की असंवेदनशीलता ही है कि वे विकलांगों का उपहास उड़ाती बात को मामूली मजाक बता रहे हैं।

लोकप्रिय
next