उन्नाव कांडः पेशी के बाद दिल्ली की कोर्ट ने सेंगर को भेजा तिहाड़, सात अगस्त को अगली सुनवाई

दिल्ली की एक अदालत ने उन्नाव रेप कांड के मुख्य आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर और उसके सहयोगी शशि सिंह को पेशी के बाद तिहाड़ जेल में रखने का आदेश दिया। मामले की अगली सुनवाई 7 अगस्त को होगी, जिसमें दोनों ही आरोपियों की दोबारा पेशी होगी।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उन्नाव रेप कांड के मुख्य आरोपी विधायक और पूर्व बीजेपी नेता कुलदीप सिंह सेंगर को सोमवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में जस्टिस धर्मेश कुमार की अदालत में पेश किया गया। सुनवाई के दौरान अदालत ने मामले के मुख्य आरोपी सेंगर और सह आरोपी शशि सिंह को तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने का आदेश दिया। साथ ही कोर्ट ने मामले में अगली सुनवाई के लिए 7 अगस्त की तारीख तय की है। उस दिन दोनों ही आरोपियों को फिर से कोर्ट में पेश किया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा उन्नाव केस की सुनवाई दिल्ली की अदालत में ट्रांसफर करने के आदेश के बाद पूर्व बीजेपी नेता सेंगर को आज सुबह ही भारी सुरक्षा के बीच दिल्ली लाया गया था। उसे तीस हजारी कोर्ट के लॉकअप में रखा गया था। सेंगर की पेशी को देखते हुए कोर्ट में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। इससे पहले शनिवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने सेंगर और शशि के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट जारी करते हुए 5 अगस्त को पेश करने का आदेश दिया था।

वहीं लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में भर्ती उन्नाव कांड की पीड़िता और उनके वकील की हालत गंभीर बनी हुई है। इसको देखते हुए सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए एयरलिफ्ट कर दिल्ली के एम्स में शिफ्ट करने का आदेश दिया है। इससे पहले सोमवार को लखनऊ अस्पतला ने दोनों का मेडिकल बुलेटिन जारी किया जिसमें कहा कि दोनों की हालत गंभीर है लेकिन स्थिर है। पीड़िता की हालत में सुधार आया है और वकील बिना वेंटिलेटर के सांस ले रहे हैं लेकिन अभी कोमा में हैं।

वहीं रविवार को इस मामले में शिकंजा कसते हुए सीबीआई ने मुख्य आरोपी और बीजेपी से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के लखनऊ, उन्नाव, फतेहपुर और बांदा में 17 ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापे मारे। इस दौरान सीबीआई ने सेंगर के कुछ रिश्तेदारों के यहां भी तलाशी ली। सीबीआई की टीम ने सेंगर के उन्नाव स्थित घर पर लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग अपने कब्जे में ली है। बताया जाता है कि इस दौरान सीबीआई को कुछ अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं, जिसे वे अपने साथ ले गए।

इसके अलावा रविवार को ही सीबीआई की टीम ने पीड़िता की कार से टकराने वाले ट्रक के मालिक और प्रसपा नेता नंदकिशोर पाल और ट्रक चालक आशीष कुमार पाल के घरों पर भी छानबीन की। इस दौरान टीम ने कई लोगों से पूछताछ भी की। मिली जानकारी के अनुसार यहां से भी सीबीआई के हाथ कई दस्तावेज लगे हैं, जिन्हें टीम अपने साथ लेती गई।

Published: 5 Aug 2019, 5:24 PM
लोकप्रिय