जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव गैंगरेप पीड़िता, पिता की गुहार, ‘हैदराबाद की तरह दोषियों को मार दे सरकार’

पीड़िता को गुरुवार की रात को लखनऊ ट्रॉमा सेंटर से एयरलिफ्ट करके दिल्ली लाया गया था। उसका इलाज करने वाले सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया कि वह 95 प्रतिशत तक जली अवस्था में आई थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने देर रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। डॉक्टरों ने बताया कि पीड़िता 95 फीसदी तक जल चुकी थी, उसे बचाने की कोशिश की गई, लेकिन देर रात उसे कार्डियक अरेस्टत आया, जिसके बाद उसकी मौत हो गई।

वहीं, पीड़िता के पिता की प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जिस तरह हैदराबाद कांड के आरोपियों को मारा गया, वैसे ही हमारी बेटी के दरिंदों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा जाना चाहिए या फिर फांसी दी जानी चाहिए।

पीड़िता को गुरुवार की रात को लखनऊ ट्रॉमा सेंटर से एयरलिफ्ट करके दिल्ली लाया गया था। उसका इलाज करने वाले सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया कि वह 95 प्रतिशत तक जली अवस्था में आई थी। उन्होंने बताया कि शुक्रवार शाम से ही उसकी हालत खराब होनी शुरू हो गई थी, लेकिन हमारे उत्कृष्ट प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका। रात करीब 11.10 बजे उसे कार्डियक अरेस्टम आया और करीब 11.40 बजे उसने दम तोड़ दिया।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत पर कहा, “मैं उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार से अपील करती हूं कि इस मामले में बलात्कारियों को एक महीने के भीतर फांसी दी जाए।”

वहीं, एनसीपी नेता और सांसद सुप्रिया सुले ने कहा, एक और मासूम की जिंदगी खत्म हो गई है। उन्नाव रेप पीड़िता के निधन के बारे में सुनकर बेहद दुख हुआ। हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि उसे न्याय मिले। साथ-साथ अन्य सभी रेप पीड़ितों को भी न्याय मिले।”

उन्नाव रेप पीड़िता के निधन पर महिला कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। महिला कांग्रेस ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार सो गई, भारत की एक और बेटी ने दम तोड़ दिया।

गौरतलब है कि उन्नाव के हिन्दुनगर गांव में जमानत पर छूटे रेप के दो आरोपियों ने तीन साथियों के साथ मिलकर नाबालिग रेप पीड़िता को जिंदा केरोसिन छिड़कर आग के हवाले कर दिया था। रेप पीड़िता गंभीर रूप से झुलस गई थी। इस घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और पीड़िता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां से डॉक्टरों ने पीड़िता को लखनऊ ट्रॉमा सेंटर में रेफर कर दिया था।

पांच दिसंबर को इस मामले की सुनवाई के लिए पीड़िता रायबरेली जा रही थी। इस दौरान जमानत पर छूटे दोनों आरोपी रेप पीड़िता को पकड़ कर पास के खेत में ले गए और उसके ऊपर केरोसिन छिड़कर आग के हवाले कर दिया। गंभीर रूप से झुलसी पीड़िता ने अपने बयान में दोनों आरोपियों का नाम लिया था। बाद में पुलिस ने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था।

लोकप्रिय