प्रियंका गांधी बोलीं- यूपी में यूरिया की कमी से किसान परेशान, तुरंत संज्ञान ले सरकार, कालाबाजारी पर लगाए लगाम

उत्तर प्रदेश के बागपत समेत कई जिलों में यूरिया की किल्लत देखी जा रही है। गाबपत में कुछ दिन पहले 610 मीट्रिक टन यूरिया आया था, जो बिक गया। अब सहकारी समितियों और ज्यादातर निजी दुकानों पर यूरिया उपलब्ध नहीं होने से किसान परेशान हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में धान की खेती का मौसम है। कई जगहों पर धान की रोपाई हो गई है तो कुछ जगहों पर धान की रोपाई चल रही है। इस समय किसानों को यूरिया की जरूत पड़ती है। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में यूरिया की कमी से किसान जूझ रहे हैं। किसानों के इस मुद्दे को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उठाया। उन्होंने योगी सरकार से अपील की है कि वह यूरिया की कमी को दूर करे।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, “उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर यूरिया की किल्लत के चलते किसान परेशान हैं। जगह-जगह लाइनें लगी हैं और लेकिन अधिकतर सहकारी समितियों पर यूरिया समाप्त हो चुकी है। किसान कालाबाजारी से परेशान है। यूपी सरकार को तुरंत हस्तक्षेप कर यूरिया की किल्लत की समस्या का समाधान करना चाहिए।”


यूपी के बागपत समेत कई जिलों में यूरिया की किल्लत देखी जा रही है। गाबपत में कुछ दिन पहले 610 मीट्रिक टन यूरिया आया था, जो बिक गया। अब सहकारी समितियों और ज्यादातर निजी दुकानों पर यूरिया उपलब्ध नहीं होने से किसान परेशान हैं। बागपत में 35 में से 30 सहकारी समितियों और 215 निजी दुकानों में 150 पर यूरिया उपलब्ध नहीं है। दो हजार मीट्रिक टन यूरिया की जरूरत है, लेकिन 150 मीट्रिक टन उपलब्ध है। ज्यादा दिक्कत सहकारी समितियों पर है। जिले में 60 फीसद किसान सहकारी समितियों से यूरिया खरीदते हैं। यह हाल एक जिले का है। बाकी के जिलों में क्या हाल होगा इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं।

उधर, कृषि निदेशक ने यूरिया तस्करी की आशंका पर यूपी-हरियाणा सीमा पर निगरानी कराने का आदेश दिया है। वहीं, प्रदेश सरकार ने किसानों से अपील की है कि वे अपनी जरूरतों के अनुसार, ही यूरिया खरीदें। साथ ही सरकार ने यह दावा किया है कि उत्तर प्रदेश में कहीं कोई यूरिया की कतई कमी नहीं है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia