यूपी: जातिगत पहचान लिखे वाहन पर लगा पहला जुर्माना, 'कुशवाहा' और 'अखिल मौर्य महासभा' लिखना पड़ा भारी

कानपुर में एक शख्स के एसयूवी पर 'कुशवाहा' और 'अखिल मौर्य महासभा' लिखा था, जिसके चलते उसका चालान काट दिया गया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

उत्तर प्रदेश के कानपुर में अपनी तरह का एक पहला मामला सामने आया है, जहां वाहनों की विंडस्क्रीन और नंबर प्लेट पर जातिगत पहचान लिखने पर जुर्माना लगा दिया गया। कानपुर में एक शख्स के एसयूवी पर 'कुशवाहा' और 'अखिल मौर्य महासभा' लिखा था, जिसके चलते उसका चालान काट दिया गया।

इंस्पेक्टर कोतवाली, संजीव कांत मिश्रा के अनुसार, "हमने एक एसयूवी के मालिक को शहर में पहला चालान जारी किया, जिसके रियर विंडस्क्रीन पर पेंट से 'कुशवाहा' और 'अखिल भारतीय मौर्य महासभा' लिखा था। वाहन कानपुर में पंजीकृत था, जो अनिल कुमार का था। हमने एसयूवी के मालिक पर 2000 रुपये का जुर्माना भी लगाया है। '

उत्तर प्रदेश में जातिगत राजनीति मजबूत होने के साथ, राज्य भर में विंडस्क्रीन या वाहनों की नंबर प्लेट पर जाति के नाम प्रदर्शित करना एक फैशन बन गया है। पिछले सप्ताह, इस संबंध में एक आदेश एक अतिरिक्त परिवहन आयुक्त द्वारा सभी क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों (आरटीओ) को जारी किया गया था जिसमें कहा गया था कि ऐसे सभी वाहन मालिकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


यह आदेश परिवहन विभाग द्वारा प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से प्राप्त निर्देशों के बाद जारी किया गया। महाराष्ट्र के एक शिक्षक - हर्षल प्रभु - ने इस चलन का विरोध करते हुए एक पत्र लिखा था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;