हर शाख पर उल्लू बैठा है, अंजाम ए गुलिस्तां क्या होः यूपी में जज की दबंगई, हेकड़ी दिखा थाने से कार छुड़ा ले गए

उत्तर प्रदेश में नेताओं, ठेकेदारों और पुलिस के बाद अब न्यायिक अधिकारी की दबंगई सामने आई है। नियमों को तोड़ने के आरोप में पुलिस द्वारा कार पकड़ने से नाराज नशे में धुत्त एक जज साहेब ने ना सिर्फ थाने में जमकर बवाल काटा, बल्कि जबरन अपनी कार भी छुड़ा ले गए।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

गुजरे जमाने के मशहूर शायर शौक बहराइची का एक शेर है कि “बर्बादे गुलिस्तां करने को बस एक ही उल्लू काफी था, हर शाख पे उल्लू बैठा है अंजाम ए गुलिस्तां क्या होगा”। ये शेर आज के उत्तर प्रदेश के हालात पर बिल्कुल सटीक बैठता है। प्रदेश में आए दिन नेताओं, ठेकेदारों, गुंडों और यहां तक कि पुलिस वालों की दबंगई और गुंडई आम बात है। लेकिन अब हालात ये हो गए हैं कि इस बीमारी से प्रदेश के कुछ जज साहेब भी ग्रसित हो गए हैं। इसका उदाहरण बुधवार की रात बांदा जिले में देखने को मिला। जहां नशे में धुत्त एक जज साहब ने थाने में पहुंचकर न केवल सीओ सिटी से बदसलूकी की बल्कि हूटर बजाने के आरोप में पकड़ी गई अपनी कार और ड्राइवर को भी जबरन छुड़ा कर ले गए।

दरअसल बुधवार शाम को बांदा पुलिस नवरात्र में शांति व्यवस्था के मद्देनजर शहर के भीड़भाड़ वाले अलीगंज पुलिस चौकी के बाबूलाल चौराहे पर वाहनों की जांच कर रही थी। इसी दौरान एक स्लेटी रंग की वैगनआर कार हूटर बजाते हुए वहां से कई बार गुजरी। संदेह हने पर यातायात पुलिस ने कार को रोका और पूछताछ करने के बाद चालक सहित कार को कब्जे में लेकर चौकी पुलिस के हवाले कर दिया। इस दौरान जज साहब कार में सवार नहीं थे।

लेकिन इसके कुछ ही देर बाद रात करीब 9 बजे बांदा से दो महीने पहले औरैया स्थानांतरित हो चुके अपर मुख्य न्यायिक दंड़ाधिकारी (एसीजेएम) डॉ. सुरेश कुमार पुलिस चौकी आ धमके और वहां मौजूद सीओ सिटी राघवेंद्र सिंह के जमकर बदसलूकी की और जबरन पुलिस कब्जे से कार और चालक को छुड़ाकर चलते बने। यही नहीं वहां उनके कारनामे को कैमरों में कैद कर रहे कुछ इलेक्ट्रानिक मीडिया के पत्रकारों से भी वह उलझ गए और उनके कैमरों को छीन कर जमीन पर पटक दिया। लेकिन एसीजेएम साहब की यह हरकत वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

इस बारे में यातायात निरीक्षक निरंजन पांडे ने बताया कि नवरात्र में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए सीओ की मौजूदगी में वाहनों की चेकिंग की जा रही थी। इसी दौरान एक वैगनआर के कई बार हूटर बजाने के कारण संदेह पैदा होने पर चालक को हिरासत में लेकर अलीगंज पुलिस के हवाले किया गया था। उस समय कार में जज साहब सवार नहीं थे। उन्होंने बताया कि रात करीब 9 बजे नशे की हालत में जज साहब थाने पहुंचे और सीओ से बदसलूकी कर जबरन कार और चालक को छुड़ा कर चले गए। पांडे ने कहा कि उच्चाधिकारियों को घटना की सूचना दे दी गई है। उनके आदेश के बाद ही आगे कोई कार्रवाई की जाएगी।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Published: 18 Oct 2018, 3:50 PM
लोकप्रिय
next