यूपी पुलिस ने पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को किया गिरफ्तार, रेप के आरोपी सांसद को बचाने की साजिश रचने का आरोप

अमिताभ ठाकुर को एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर गिरफ्तार किया गया है, जिसमें उन्हें रेप के एक मामले के आरोपी बीएसपी सांसद अतुल राय को बचाने के लिए साजिश रचने का दोषी बताया गया है। इस मामले में कथित रेप पीड़िता और उसके साथी की आत्मदाह के बाद मौत हो चुकी है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जबरन रिटायर किए गए आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को आज लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अमिताभ ठाकुर ने गिरफ्तारी का विरोध करने की कोशिश की तो पुलिस उन्हें घसीटते हुए ले गई और एक पुलिस जीप में बांधकर हजरतगंज पुलिस स्टेशन ले गई।

बताया जा रहा है कि ठाकुर को एसआईटी की एक रिपोर्ट के आधार पर गिरफ्तार किया गया है, जिसमें उन्हें बलात्कार के एक मामले के आरोपी बीएसपी सांसद अतुल राय को बचाने के लिए साजिश रचने का दोषी बताया गया है। इस मामले में कथित रेप पीड़िता की सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह का प्रयास करने के कुछ दिनों बाद इसी सप्ताह की शुरूआत में मौत हो गई है। उससे पहले आत्मदाह करने वाले उसके साथी की भी मौत हो चुकी है।


रेप पीड़ित महिला ने एक मई 2019 को अतुल राय के खिलाफ लंका थाने में दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था। वह और उसके साथी ने 16 अगस्त को अमिताभ ठाकुर, एसएसपी अमित पाठक और एक न्यायाधीश सहित अन्य अधिकारियों पर उनके खिलाफ साजिश रचने का गंभीर आरोप लगाकर सुप्रीम कोर्ट के बाहर खुद को आग लगा ली थी।

घोसी संसदीय सीट से बीएसपी उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल करने के बाद भगोड़े के रूप में ही चुनाव जीतने वाले अतुल राय ने बाद में 22 जून, 2019 को अदालत के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। तब से वह जेल में ही हैं।

खास बात ये है कि शुक्रवार को अपनी गिरफ्तारी से कुछ घंटे पहले ही सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने घोषणा की थी कि वह अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी बना रहे हैं। साथ ही ठाकुर ने यह भी कहा कि वह गोरखपुर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 27 Aug 2021, 6:47 PM