उन्नाव केस से पर्दा उठाने का यूपी पुलिस का दावा, एकतरफा प्यार में हुई दोनों किशोरियों की हत्या, दो गिरफ्तार

लखनऊ रेंज आईजी लक्ष्मी सिंह ने बताया कि तीनों की कीटनाशक पिलाया गया था। गेहूं में रखने वाली दवा तीनों किशोरियों को खिलाई गई थी, जिससे दो की मौत गई और एक का इलाज कानपुर में चल रहा है। उन्होंने बताया कि आरोपी विनय ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के उन्नाव स्थित असोहा क्षेत्र में बुधवार को रिश्ते में बुआ-भतीजी दो किशोरियों की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत पर से पर्दा उठ गया है। यूपी पुलिस ने शुक्रवार शाम प्रेस कांफ्रेंस कर दावा किया कि एकतरफा प्यार में वारदात को अंजाम दिया गया। इस घटना को अंजाम देने वाले दो आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें एक राम विनय है, जबकि दूसरा आरोपित नाबालिग है।

लखनऊ रेंज आईजी लक्ष्मी सिंह ने बताया कि तीनों की कीटनाशक पिलाया गया था। गेहूं में रखने वाली दवा तीनों किशोरियों को खिलाई गई थी, जिससे दो की मौत गई और एक का इलाज कानपुर में चल रहा है। उन्होंने बताया कि आरोपी विनय ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और पूछताछ के दौरान उसने पुलिस को बताया कि वह तीनों में से एक लड़की से एकतरफा मोहब्बत करता था।

पुलिस ने बताया कि लड़की के इनकार करने पर विनय को ये बात सहन नहीं हुई। उसने पानी की बोतल में कीटनाशक मिलाकर उसे पिला दिया। अन्य दोनों बहनों ने भी वो कीटनाशक पी लिया। जिससे उनकी मौत हो गई। तीनों लड़कियां दोनों आरोपी लड़कों को जानती थीं। आरोपियों ने उन्हें गेहूं में रखने वाली कीटनाशक पिलाई थी।

आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह ने बताया कि घटना के बाद मुखबिर की सूचना पर कुछ लोगों को उठाकर उनसे पूछताछ की जा रही थी। इसी दौरान दोनों बच्चियों के अंतिम संस्कार के बाद जब डॉग स्क्वाड को घटनास्थल पर ले जाया गया तो वह वहां से गांव की एक दुकान पर पहुंचा। फोरेंसिक ने दुकान से सभी नमकीन और चिप्स को जांच के लिए कब्जे में लिया। पूछताछ में दुकानदार ने बताया कि घटना से पहले लड़कियां उसकी दुकान से नमकीन खरीदने आई थीं। पुलिस को जांच के दौरान खेत से भी एक नमकीन का पैकट मिला था।

आईजी लक्ष्मी सिंह ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि एक के बाद एक मिले सुरागों के जरिए पुलिस विनय तक पहुंच गई। पूछताछ के दौरान विनय ने बताया कि वह जिससे प्यार करता था, उससे बात करने के लिए फोन नंबर मांग रहा था। लड़की के कई बार मना करने पर यह बात उसे बर्दाशत नहीं हुई। जिसके बाद गुस्से में उसने ऐसा कदम उठाया। उन्होंने कहा कि मृतक लड़कियों के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच लाख और घायल किशोरी को दो लाख दिया जाएगा।

गौरतलब है कि हादसे का शिकार हुई तीसरी लड़की और मृतका की चचेरी बहन रोशनी की हालत नाजुक है। उसका इलाज कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में चल रहा है। काजल के पिता ने घटना के 18 घंटे बाद गुरुवार को असोहा थाने में हत्या की शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर कुछ लोगों को हिरासत में लिया था। वहीं दोनों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पॉइजनिंग की पुष्टि हुई थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय