उत्तर प्रदेशः शाही अंदाज में निकला थानेदार का विदाई जुलूस, सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन, वायरल होने पर निलंबित

जुलूस में पुलिस वाहन-112 पर सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते हुए दर्जनों पुलिसकर्मी सवार थे। इनके साथ खुले में बिना हेल्मेट बाइक पर सवार कई पुलिसकर्मी पायलट की भूमिका में थे। विदाई जश्न के दौरान न तो किसी ने मास्क लगाया था और न ही किसी तरह की सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होता दिख रहा था।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

आईएएनएस

उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर जिले में गुरुवार को हटाए गए एक थानेदार की विदाई शाही अंदाज में की गई। गाड़ियों का लंबा काफिला निकला। जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान नहीं रखा गया। काफिले में यूपी पुलिस की यूपी-112 गाड़ियां भी शामिल रहीं। विदाई जुलूस में शामिल पुलिसकर्मी बिना मास्क के नजर आए और इस दौरान जमकर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ी। हालांकि, वीडियो वायरल होने पर थानेदार को सस्पेंड कर दिया गया है।

अंबेडकर नगर के पुलिस अधीक्षक अलोक प्रियदर्शी ने बताया कि एक वीडियो संज्ञान में आया है। जिसमें निवर्तमान बसखारी थानाध्यक्ष अपना चार्ज लेने जा रहे थे। इस दौरान उनके साथ कुछ गाड़ियों का काफिला था। उनके साथ मौजूद लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया। इस मामले में उन्हें निलंबित कर दिया गया है। वहां मौजूद पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन का मुकदमा भी दर्ज किया गया है। सारे मामले की जांच अतरिक्त पुलिस अधीक्षक को सौंपी गई है।

गौरतलब है कि बीते दिनों अंबेडकरनगर के टांडा से बीजेपी विधायक संजू देवी ने अवैध वसूली के आरोप में बसखारी के थानाध्यक्ष मनोज सिंह पर कार्रवाई की मांग की थी। जिसके बाद मनोज सिंह का तबादला करते हुए जैतपुर थाने पर बतौर थाना इंचार्ज तैनाती कर दी गई। मनोज सिंह की जब बसखारी से विदाई हुई तो कई पुलिसकर्मी बिना मास्क के विदाई जुलूस में शामिल हुए।

जुलूस में पुलिस वाहन-112 पर सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते हुए दर्जनों पुलिसकर्मी सवार थे। इनके साथ खुले में बिना हेल्मेट के बाइक पर सवार कई पुलिसकर्मी भी पायलट की भूमिका में थे। विदाई के जश्न के दौरान ना तो किसी ने मास्क लगाया हुआ था और ना ही किसी तरह की सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होता दिख रहा था। इस दौरान सिर्फ उस थाने की ही नहीं, बल्कि थाना क्षेत्र की अन्य सरकारी गाडियों को बुलाकर इस काफिले में शामिल किया गया। विदाई जुलूस का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कार्रवाई की गई है।

लोकप्रिय
next