उत्तराखंड से लखीमपुर कूच कर रहे हरीश रावत के काफिले को देख UP पुलिस के फूले हाथ-पांव! किच्छा बॉर्डर पर रोका

उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, कांग्रेस के कई विधायकों को यूपी पुलिस ने किच्छा-यूपी बॉर्डर पर रोक दिया है। बताया जा रहा है कि इन नेताओं को पुलिस बॉर्डर पार करने नहीं दे रही है।

फोटो: नवजीवन
फोटो: नवजीवन
user

नवजीवन डेस्क

यूपी के लखीमपुर में हुई हिंसा में मारे गए किसानों के परिजनों से मिलने के लिए लखीमपुर जा रहे उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, कांग्रेस के कई विधायकों को यूपी पुलिस ने किच्छा-यूपी बॉर्डर पर रोक दिया है। बताया जा रहा है कि इन नेताओं को पुलिस बॉर्डर पार करने नहीं दे रही है। मौके पर भारी पुलिस बल और कई गाड़ियां भी मौजूद है।

इधर हरीश रावत के साथ हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद हैं। आपको बता दें, सुबह रामनगर से उत्तराखंड कांग्रेस का ये काफिला लखीमपुर के लिए निकला था। उत्तराखंड के रामनगर से बाजपुर से गदरपुर-रुद्रपुर-किच्छा-बरेली होते हुए इस काफिले को लखीमपुर पहुंचना था। लेकिन रास्ते में ही यूपी पुलिस ने इन्हें रोक दिया। आपको बता दें, बुधवार को हरीशा रावत ने इस बात की जानकारी दी थी कि हजारों गाड़ियों के काफिले के साथ वो लखीमपुर कूच करेंगे।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता डॉ.प्रतिमा सिंह ने बताया था कि प्रदेश कांग्रेस के कार्यकर्ता कृषि कानूनों को निरस्त करने, लखीमपुर खीरी में हुई किसानों की निर्मम हत्या के दोषियों की गिरफ्तारी, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री की बर्खास्तगी की मांग को लेकर लखीमपुर कूच करेंगे। कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे बताया कि इसके तहत प्रदेश के कांग्रेस कार्यकर्ता गुरूवार को मंडी मैदान बाजपुर से सुबह 10 बजे गदरपुर से लखीमपुर खीरी जाएंगे। कूच कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत सहित सभी वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता प्रतिभाग करेंगे। हरीश रावत ने बताया कि इस दौरान उनके साथ करीब 1000 वाहनों का काफिला होगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia