यूपीः फिरोजाबाद में फुटपाथ पर मरीजों का इलाज कर रहा था निजी अस्पताल, परिजनों के हंगामे के बाद अस्पताल हुआ सील

फिरोजाबाद में बुखार मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण जब एक निजी अस्पताल के कमरे पूर्ण रूप से भर गए, तो अस्पताल ने अपने सामने से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग-2 की सर्विस लेन पर बने फुटपाथ पर इलाज की व्यवस्था करते हुए मरीजों का वहां इलाज शुरू कर दिया था।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में एक निजी अस्पताल को 30 से अधिक बुखार रोगियों का राष्ट्रीय राजमार्ग के फ्लाईओवर के किनारे फुटपाथ पर इलाज करने के आरोप में सील कर दिया गया है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मरीजों के परिवार का गुस्सा भड़क उठा था, जिसके बाद स्वास्थ्य अधिकारियों को मंगलवार को अस्पताल को सील करना पड़ा। बाद में मरीजों को सरकारी स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया।

खबरों के मुताबिक, शहर में बुखार रोगियों की बढ़ती संख्या के कारण जब एक निजी अस्पताल के कमरे पूर्ण रूप से भर गए थे, तो नर्सिंग होम ने अपने सामने से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग-2 की सर्विस लेन पर बने फुटपाथ पर इलाज की व्यवस्था करते हुए मरीजों का वहां इलाज शुरू कर दिया था।


इस पर फिरोजाबाद जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ दिनेश कुमार प्रेमी ने कहा, "नर्सिंग होम को सील कर दिया गया है और एक अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी की अध्यक्षता में एक समिति पूरे मामले की जांच कर रही है। सभी रोगियों को सरकारी केंद्रों में स्थानांतरित कर दिया गया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर संबंधित डॉक्टरों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।" उन्होंने कहा कि जिले में 64 सक्रिय शिविर हैं और बुखार वाले लोगों सहित 5,000 लोगों का वहां इलाज चल रहा है।

बता दें कि फिरोजाबाद में अगस्त से अब तक डेंगू के मरीजों की संख्या 4,800 के पार जाने के साथ ही सभी सरकारी अस्पतालों में बिस्तर भर गए हैं। पिछले 24 घंटों में चार और मौतों के साथ, फिरोजाबाद जिले में मरने वालों की कुल संख्या- जो डेंगू के प्रकोप का केंद्र बन गया है, मंगलवार को 265 को छू गया। इनमें से 228 बच्चे शामिल हैं। हालांकि, मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने दावा किया कि डेंगू जैसे लक्षणों के कारण केवल 63 मौतें हुई हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia