महाभियोग से एक बार फिर बच गए डोनाल्ड ट्रंप, कैपिटॉल पर हमले का दोषी ठहराने के लिए संसद में नहीं बनी सहमति

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति दूसरी बार महाभियोग से बच गए हैं। बीती 6 जनवरी को अमेरिकी कैपिटॉल पर हमले के लिए उन पर मुकदमा चलाने का प्रस्ताव संसद में गिर गया। प्रस्ताव पास करने के लिए 67 वोट चाहिए थे, लेकिन सिर्फ 57 सांसदों ने उनपर महाभियोग के लिए वोट दिया।

फोटो : Getty Images
फोटो : Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

अमेरिकी संसद ने दूसरी बार पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को महाभियोग से बरी कर दिया है। ट्रंप पर बीती 6 जनवरी को अमेरिकी कैपिटॉल पर हमला करने के लिए भीड़ को उकसाने का आरोप लगा था, और इसके लिए उन पर महाभियोग चलाया जाना था। इसके लिए अमेरिकी संसद में पेश प्रस्ताव वोटिंग के बाद गिर गया। इस प्रस्ताव को पास करने के लिए दो तिहाई या कम से कम 67 वोटों की जरूरत थी, लेकिन 7 रिपब्लिकन सांसदों द्वारा महाभियोग चलाने के पक्ष में वोटिंग करने के बावजूद इसके पक्ष में सिर्फ 57 वोट ही पड़े। 43 सांसदों ने महाभियोग प्रस्ताव के खिलाफ वोट दिया।

महाभियोग प्रस्ताव गिरने के बाद ट्रंप के ऑफिस ने एक बयान जारी कर कहा है कि सत्य की जीत हुई है। बयान में कहा गया है कि, "हमारे देश के इतिहास में बदला लेने का यह एक और दौर था।" हालांकि बयान में 6 जनवरी की घटना का जिक्र नहीं किया गया है, जिसके लिए ट्रंप पर महाभियोग चलाया जाना था। लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से ट्रंप ने इस हमले के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी को ही जिम्मेदार ठहराया है। बयान में कहा गया है कि, "यह हमारे दौर की सबसे निराशाजनक स्थिति है कि अमेरिका ने एक ऐसे राजनीतिक दल को खुली छूट दे दी है जिसने कानून की धज्जियां उड़ाईं, कानून की रक्षा करने वालों को बदनाम किया, भीड़ को उकसाया और दंगाइयों को बख्श दिया।"

ट्रंप ने बयान में 'मेक अमेरिका ग्रेट अगेन' को दोबारा शुरु करने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि यह तो अभी शुरुआत है आने वाले महीनों में मैं और भी बहुत कुछ लोगों के साथ साझा करूंगा।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;