उत्तर प्रदेशः मेरठ में मस्जिद की दीवार गिरने से 2 की मौत, 9 लोग बुरी तरह घायल, नमाज के फौरन बाद हुआ हादसा

स्थानीय लोगों ने बताया कि जुमे की नमाज के बाद अचानक तेज बारिश शुरू हो गई, जिससे बचने के लिए कुछ लोग मस्जिद में ही रुक गए। इसी बीच भरभराकर मस्जिद की दीवार गिर गई और दर्जन भर लोग उसके नीचे दब गए। राहत की बात यह है कि कोरोना के चलते मस्जिद में बहुत कम लोग थे।

फोटोः आस मोहम्मद कैफ
फोटोः आस मोहम्मद कैफ
user

आस मोहम्मद कैफ

उत्तर प्रदेश के मेरठ में लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के अहमदनगर में आज दोपहर एक मस्जिद की दीवार गिरने से 2 लोगों की मौत हो गई, जबकि 9 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इनमें से 3 की हालत गंभीर बनी हुई है। यह हादसा आज जुमे की नमाज के फौरन बाद हुआ। जिस समय यह हादसा हुआ, उस समय मस्जिद में 40-50 लोग मौजूद थे, जो बारिश की वजह से मस्जिद में रुक गए थे।

फोटोः आस मोहम्मद कैफ
फोटोः आस मोहम्मद कैफ

मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के भीड़भाड़ वाले इलाके में स्थित मस्जिद का नाम मोहम्मदिया मस्जिद है। यह हादसा नमाज पढ़ने के दौरान नहीं हुआ, बल्कि जब लोग जुमे की नमाज पढ़कर लोग घर लौट रहे थे तभी तेज बारिश आने के चलते कुछ लोग मस्जिद में ही रुक गए और उस दौरान मस्जिद की एक निर्माणाधीन दीवार गिर गई, जिसमें दर्जनों लोग दब गए। इस दौरान चीख-पुकार मच गई और लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। मरने वालों का नाम अफ्फान और बबलू बताया जा रहा है, जबकि घायलों में फुरकान, इरशाद, नूर मोहम्मद, नदीम और शाहिद बताए जा रहे हैं।


हादसे के तुरंत बाद स्थानीय विधायक रफीक अंसारी और प्रशासनिक अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची और घटनास्थल का निरीक्षण किया। एसपी सिटी विनीत भटनागर और सिटी मजिस्ट्रेट सतेंद्र कुमार सिंह ने काफी तत्परता दिखाते हुए हादसे में दबे घायलों को बाहर निकाला और उन्हें अस्पताल पहुंचाया। एसपी सिटी, सिटी मजिस्ट्रेट समेत पुलिस अधिकारी मौके पर हैं और बचाव कार्य चल रहा है।

फोटोः आस मोहम्मद कैफ
फोटोः आस मोहम्मद कैफ

अहमदनगर की गली नम्बर 9 में स्थित जिस मस्जिद में यह हादसा हुआ, उसकी हालात बिल्कुल भी खराब नहीं थी। दीवार हाल के दिनों में बनकर तैयार हुई थी, मगर स्थानीय लोगों की मानें तो जर्जर बिल्कुल नहीं थी। स्थानीय निवासी अदनान अंसारी ने जानकारी देते हुए बताया कि मस्जिद का छज्जा टूटने से यह हादसा हुआ है। यह बारिश की वजह से हो सकता है, क्योंकि दीवारें गीली हो चुकी हैं। राहत की बात यह है कि कोरोना गाइडलाइंस के चलते मस्जिद में बहुत कम लोग नमाज पढ़ रहे थे। सामान्य दिनों में यह हादसा बहुत बड़ा हो सकता था।


एक अन्य निवासी गौहर अनवर ने बताया कि हादसे की वजह बारिश है। यहां जुमे की नमाज के बाद अचानक तेज बारिश शुरू हो गई, जिससे बचने के लिए लोग मस्जिद में ही रुक गए। इसी बीच भरभराकर मस्जिद की दीवार गिर गई और दर्जन भर लोग उसके नीचे दब गए। मौके पर चीख-पुकार मच गई। वहां मौजूद लाेगों ने खुद राहत कार्य शुरू करते हुए मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला। इस दौरान दो लोगों की मौत हो गई। बाद में पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने मौके पर पहुंचकर दबे हुए लोगो को निकाला।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia