उत्तर प्रदेश: अखिलेश यादव का बीजेपी पर हमला, कहा, अगर फिर सत्ता में आ गई तो देश से खत्म हो जाएगा लोकतंत्र

अखिलेश यादव ने कहा कि अगर बीजेपी फिर सत्ता में आ गई तो देश से खत्म हो जाएगा लोकतंत्र

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने देश की जनता को आगाह किया कि अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को पछाडने मे कामयाब नही होने की दशा में सबको पकौड़े बेचने पर मजबूर होना पड़ सकता है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी के राज में लोकतंत्र खतरे में है। अब देश को जातिवाद और सांप्रदायिकता की आग में झोंका जा रहा है। केंद्र सरकार दलितों के खिलाफ काम कर रही है, केंद्र सरकार दलितों की हितैषी कतई नहीं है। सामाजिक न्याय साइकिल यात्रा को इटावा से नई दिल्ली रवाना करने के बाद अखिलेश ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि बीजेपी को अब किसी भी कीमत पर सत्ता में आने से रोकना है। बीजेपी अगर फिर सत्ता में आ गई तो देश से लोकतंत्र खत्म हो जाएगा।

सैफई में अखिलेश ने कहा कि यह साइकिल यात्रा विकास यात्रा है, अगर यह सफल हो गई तो देश में लोकतंत्र बचा रहेगा। अगर देश में दोबारा बीजेपी की सरकार आई तो लोकतंत्र देश से खत्म हो जाएगा। इसी कारण बीजेपी को रोकने के लिए अभी से जुट जाएं।

उन्होंने कहा कि बीजेपी वालों ने गंगा माता को भी धोखा दे दिया। जब तक उसकी सहायक नदियों की सफाई नहीं होगी, तब तक गंगा साफ नहीं होगी।

उन्होंने कहा, “अभी तक जितनी भर्तियां हुईं, उन सभी के पेपर लीक हो गए। ऐसा किसी सरकार में नहीं हुआ। आने वाले समय में समाजवादी पार्टी सरकार में पुलिस भर्ती जिस तरीके से हमने कराई थी, उसी तरीके से कराई जाएगी। बीजेपी सरकार ने दलितों और पिछड़ों की नौकरियां छीनी हैं। आज देश और प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ी है। किसानों को पैदावार की लागत नहीं मिल पा रही है।”

उन्होंने कहा, “चुनाव आ रहा है, जातिगणना की बात शुरू हो गई है। बेहतर यह होगा कि सभी को आधार से जोड़ दिया जाए और सभी जातियों की गिनती हो जाए। समाजवादी लोग विकास की बात करते हैं जबकि बीजेपी के लोग कहते हैं कि जहां नाला दिख जाए वहीं आग लगाकर पकौड़े बनाना। हमने एक्सप्रेस-वे 22 महीने में बना दिया वे 19 महीने में ही बनाकर दिखा दें।”

समाजवादी पार्टी के मुख्य राष्ट्रीय महासचिव प्रो रामगोपाल यादव ने कहा प्रदेश सरकार संविधान के हिसाब से नहीं चल रही है। इसे बर्खास्त कर देना चाहिए। लोकसभा के साथ यूपी में विधानसभा चुनाव होने चाहिए।

उन्होंने कहा, “नोटबंदी और जीएसटी ने लोगों को बर्बाद कर दिया। नौकरियां खत्म हो गईं। बीजेपी सत्ता में रहने के लिए सबकुछ करेगी। बीजेपी के कुछ लोग केवल इसलिए घूम रहे हैं कि वे तोड़फोड़ करके नई पार्टियों का निर्माण करें। समाजवादी पार्टी सरकार की सभी योजनाएं बंद कर दीं, ऐसी सरकार को हटाना ही एकमात्र विकल्प है।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें