उत्तर प्रदेश: बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी और बजरंग दल का संयोजक योगेश राज गिरफ्तार, हिंसा के बाद से था फरार

गोकशी की अफवाह के बाद 3 दिसंबर, 2018 को बुलंदशहर के स्याना में हिंसा हुई थी। आरोप है कि बजरंग दल का मुख्य समंयोजक योगेश राज अपने साथियों के साथ स्याना थाना इलाके में पहुंचा था। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने थाने पर पथराव कर गाड़ियों में आग लगा दी थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा मामले के मुख्य आरोपी योगेश राज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि योगेश की गिरफ्तारी देर रात हुई है। योगेश राज की गिरफ्तारी के बाद की एक तस्वीर भी सामने आई है, जिसमें वह पुलिस के साथ खड़ा है। पुलिस ने योगेश राज को स्याना हिंसा का मुख्य आरोपी बनाया था। योगेश बजरंग दल का जिला संयोजक है जो हिंसा के बाद से ही फरार था। योगेश राज पर मौके पर मौजूद बजरंग दल के कार्यकताओं को भड़काने का आरोप है।

मुख्य आरोपी योगेश राज को लेकर पुलिस का बयान सामने आया है। यहां के एसएसपी पी चौधरी ने योगेश राज की गिरफ्तारी पर मीडिया से बात की। उन्होंने कहा, “खुफिया सूचना के आधार पर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है। उसके बयान को रिकॉर्ड किया जा रहा है। हम उसे कोर्ट में पेश करेंगे।”

वहीं योगेश राज की गिरफ्तारी पर बजरंग दल का भी बयान आया है। बजरंग दल के प्रवीन भाटी ने कहा, “योगेश राज बेकसूर है। हम उसे कानूनी सहायता प्रदान करेंगे। उसकी बेहतरी के लिए जो कुछ होगा हम करेंगे। हमें पूरा भरोसा है कि वह अदालत से सभी आरोपों से बरी हो जाएगा।”

गोकशी की अफवाह के बाद 3 दिसंबर, 2018 को बुलंदशहर के स्याना में हिंसा हुई थी। आरोप है कि बजरंग दल का मुख्य समंयोजक योगेश राज अपने साथियों के साथ स्याना थाना इलाके में पहुंचा था। जहां बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा था। इस दौरान हंगामा करने वालों की पुलिस से झड़प हो गई थी। इलाके में कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया था। थाने पर पथराव के बाद थाना परिसर में मौजूद गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया गया था। इसी दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को प्रदर्शनकारियों ने गोली मार दी थी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी।

हिंसा केआरोप में पुलिस ने बजरंगदल के जिला संयोजक योगेश राज को मुख्य आरोपी बनाते हुए 27 लोगों के खिलाफ नामजद और 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। योगेश राज समेत कई आरोपियों के सामने नहीं आने पर पुलिस ने सभी के खिलाफ गैरजमानी वारंट भी जारी किया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 03 Jan 2019, 9:56 AM