मुख्तार अंसारी को बुलेटप्रूफ जैकेट पहना बांदा जेल लेकर पहुंची यूपी पुलिस, ड्रोन की निगरानी में जेल में रखा गया

यूपी पुलिस की टीम मुख्तार अंसारी को लेकर कल दोपहर करीब दो बजे रोपड़ जेल से बांदा के रवाना हुई थी। पंजाब से होते हुए यूपी पुलिस का काफिलाय शाम 4 बजे तक हरियाणा के करनाल पहुंच गया था। इसके बाद नोएडा, मथुरा, आगरा और कानपुर होते हुए काफिला बांदा जेल पहुंचा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश पुलिस माफिया मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल से लेकर बांदा जेल पहुंच गई है। मुख्तार अंसारी को लेकर यूपी पुलिस आज सुबह करीब साढ़े चार बजे बांदा जेल पहुंची। बांदा जेल पहुंचते ही सबसे पहले कागजी कार्यवाही पूरी की गई। इसके बाद मुख्तार अंसारी का मेडिकल चेअप किया गया। चार डॉक्टरों की टीम ने अंसारी का मेडिकल चेकअप किया। बताया जा रहा है कि इसके बाद मुख्तार को बांदा जेल के बैरक नंबर 15 में शिफ्ट कर दिया गया।

यूपी पुलिस की टीम मुख्तार अंसारी को लेकर कल दोपहर करीब दो बजे रोपड़ जेल से बांदा के लिए रवाना हुई थी। पंजाब से होते हुए यूपी पुलिस का काफिलाय शाम 4 बजे तक हरियाणा के करनाल पहुंच गया था। इसके बाद नोएडा, मथुरा, आगरा और कानपुर होते हुए पुलिस का काफिला आज सुबह करीब साढ़े बजे बांदा जेल पहुंचा। बताया जा रहा है कि मुख्तार को लाने के दौरान यूपी पुलिस के काफिले की स्पीड करीब 80 किलोमीटर प्रति घंटा रही।

सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि मुख्तार अंसारी को यूपी लाया जाए। इसके बाद इस मुद्दे पर सियासत गर्म हो गई थी। मुख्तार के परिजनों ने मुख्तार अंसारी पर हमले की आशंका जताई थी। उन्हें यह भी डर था कि कहीं जनबूझकर मुख्तार का यूपी पुलिस रास्ते में एनकाउंटर न कर दे। ऐसे में पंजाब से बांदा के बीच रास्ते में पड़ने वाले सभी जिलों को अलर्ट पर रखा गया था। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सभी पुलिस कर्मियों को बुलेटप्रूफ जैकेट पहनाया गया था और मुख्तार अंसारी को भी बुलेटप्रूफ जैकेट पहनाया गया था।

मुख्तार अंसारी को बादा जेल में शिफ्ट किए जाने के बाद ऐसा पहली बार होगा कि जिला जेल की निगरानी ड्रोन कैमरे से की जाएगी। बैरक नंबर 15 को सीसीटीवी कैमरों से कवर किया गया। इस कैमरों के जरिए जेल मुख्यालय लगातार मुख्तार की बैरक पर नजर रखेगा। साथ ही जेल में मुख्तार के करीब वहीं जेल कर्मी जा सकेंगे, जो बॉडी वॉर्न कैमरा पहने होंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 07 Apr 2021, 7:41 AM
लोकप्रिय