उत्तराखंड: हरिद्वार में कड़ाके की सर्दी और शीतलहर का असर, हर की पौड़ी और अन्य घाटों पर सन्नाटा

हरिद्वार में कड़ाके की सर्दी को देखते हुए जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्बयाल ने अधिकारियों को जरूरत के हिसाब से अलाव जलाने और निराश्रितों और बेघरों को कंबल वितरित करने के निर्देश दिए हैं।

हरिद्वार में कड़ाके की सर्दी के बीच घाटों पर सन्नाटा।
हरिद्वार में कड़ाके की सर्दी के बीच घाटों पर सन्नाटा।
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। बर्फीली हवाओं ने लोगों का जीना दूभर कर रखा है। हरिद्वार में ठंड कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। शीतलहर और घने कोहरे के कारण यहां जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। शीतलहर के साथ दिनभर बादल छाए रहने से लोगों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। भीषण सर्दी के चलते सड़कों पर भी आवाजाही बेहद कम हो गई है। दूसरे राज्यों से आने वाले यात्रियों की संख्या भी बेहद कम हो गई है। इसके चलते यात्रीयों और स्नानार्थियों से गुलजार रहने वाली हर की पौड़ी और अन्य घाटों पर सन्नाटा पसरा हुआ है।

जिलाधिकारी ने दिए अलाव जलाने के निर्देश

कड़ाके की सर्दी को देखते हुए जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्बयाल ने अधिकारियों को जरूरत के हिसाब से अलाव जलाने और निराश्रितों और बेघरों को कंबल वितरित करने के निर्देश दिए हैं। लोग जगह-जगह अलाव जलाकर सर्दी से बचने की खुद कोशिश कर रहे हैं। सड़कों और घाटों पर रहने वाले बेघरों और बाहर से आने वाले यात्रियों को सर्दी से बचाने के लिए जिला आपातकालीन परिचालन केन्द्र द्वारा अलाव जलाए जा रहे हैं।


इन जगहों पर जलाए जा रहे अलाव

हरिद्वार में बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, शिवमूर्ति, ललतारौ पुल, पोस्ट ऑफिस, हाथी पुल रैन बसेरा पुरुष, हाथी पुल रैन बसेरा महिला, रैन बसेरा अलकनंदा घाट, भीमगौड़ा बैरियर, हर की पौड़ी, सुभाष घाट, मालवीय द्वीप, मनसादेवी उड़न खटोल, पुरुषार्थी मार्केट, चण्डी घाट चौराहा, नाई घाट, सप्तऋषि, दुधाधारी चौक भूपतवाला, भारत माता मंदिर, शांतिकुंज, प्रेसक्लब हरिद्वार, डामकोठी गेट, मनसादेवी सीढ़ी मार्ग, चद्राचार्य चौक, रानीपुर हरिद्वार, रेलवे स्टेशन ज्वालापुर, जटवाड़ा पुल, हरिलोक कॉलोनी, शारदा नगर रेलवे फाटक, शंकराचार्य चौक, आर्यनगर चौक, बंगाली मोड़ कनखल, झंडा चौक, देश रक्षक कनखल, सतीघाट कनखल, सिंहद्वार सहित दर्जनों स्थानों पर अलाव जलाने की व्यवस्था की गई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;