चुनावी मौसम में तीर्थपुरोहितों के आगे झुकी उत्तराखंड की BJP सरकार, चारधाम देवस्थानम बोर्ड को किया भंग

आपको बता दें, दो साल पहले त्रिवेंद्र सरकार (BJP) के समय चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड अस्तित्व में आया था। जिसका विरोध पहले दिन से ही पुजारी कर रहे थे। मजबूर में धामी सरकार को इस बोर्ड को भंग करना पड़ा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड की बीजेपी सरकार तीर्थ पुरोहितों के आगे झुक गई है। भारी विरोध के बाद आखिरकार सीएम धामी को चारधाम देवस्थानम बोर्ड को भंग करने का फैसला लेना पड़ा। आपको बता दें, काफी लंबे समय से पुजारी इसे भंग करने की मांग कर रहे थे।

आलम ये था कि विरोध कर रहे पुजारियों ने पीएम के दौरे के दौरान मोदी को भी काले झंडे दिखाने की कोशिश की थी। जिसके बाद सरकार हरकत में आई और ये फैसला लेना पड़ा। आपको बता दें, इस फैसले को चुनाव से भी जोड़ा जा रहा है, क्योंकि उत्तराखंड में भी आगले साल चुनाव होने हैं ऐसे में सरकार हर कदम फूंक फूंक कर रख रही है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia