उत्तराखंड: गौरीकुंड में भूस्खलन के बाद दूसरे दिन रेस्क्यू ऑपरेशन जारी, अब तक 3 लोगों की मौत, 17 अभी भी लापता

भूस्खलन शनिवार आधी रात को हुआ था। पहाड़ से आए भारी मलबे में सड़क किनारे बनी दो दुकानें और ढाबे बह गए थे। इन दुकानों और ढाबों में 4 स्थानीय लोग और 16 नेपाली मूल के लोग मौजूद थे।

उत्तराखंड के गौरीकुंड में भूस्खलन के बाद दूसरे दिन रेस्क्यू ऑपरेशन जारी।
उत्तराखंड के गौरीकुंड में भूस्खलन के बाद दूसरे दिन रेस्क्यू ऑपरेशन जारी।
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग के गौरीकुंड में भीषण भूस्खलन के बाद आज दूसरे दिन भी रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। एसडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई है। अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। अभी भी 17 लोग लापता हैं, जिनकी तलाश जारी है। यह जानकारी जिला प्रशासन ने दी है।

भूस्खलन शनिवार आधी रात को हुआ था। पहाड़ से आए भारी मलबे में सड़क किनारे बनी दो दुकानें और ढाबे बह गए थे। इन दुकानों और ढाबों में 4 स्थानीय लोग और 16 नेपाली मूल के लोग मौजूद थे। जिस समय भू स्खलन हुआ उस समय सभी लोग सो रहे थे। भूस्खन की सूचना मिलने के बाद प्रशासनिक अलमा, एसडीआरएफ की टीक के साथ रात में ही मौके पर पहुंचा गया था और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया था।


ऐसी आशंका जताई जा रही है कि भूस्खलन के बाद से लापता लोग मंदाकिनी नदी की तेज बहाव में बह गए होंगे। भूस्खलन वाले स्थान पर कुछ भी नहीं मिला है। नीचे से मंदाकिनी नदी भी उफान पर बह रही है। बारिश की वजह से नदी उफान पर है। शुक्रवार को बारिश की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कत आ रही थी। कुछ देर के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन को रोकना भी पड़ा था। फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;