उत्तराखंड: नैनीताल के भीमताल में बाघ आदमखोर घोषित, 3 दिनों में दो लोगों को बना चुका है शिकार, दहशत में लोग

डीएम वंदना सिंह ने सुरक्षा को देखते हुए क्षेत्र के आसपास के स्कूलों को बंद रखने के लिए शिक्षा विभाग को भी निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही बाघ को मारने के लिए क्षेत्र मे शिकारी दल को तैनात कर दिया गया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

नैनीताल के भीमताल ब्लाक में एक बाघ ने तीन दिन में 2 महिलाओं को अपना शिकार बना लिया। इससे ग्रामीणों में आक्रोश है। उनकी मांग पर बाघ को आदमखोर घोषित कर दिया गया है। भीमताल ब्लॉक से सटे क्षेत्र मे सक्रिय बाघ को मारने के लिए परमिशन मिल गयी है।

डीएम वंदना सिंह ने सुरक्षा को देखते हुए क्षेत्र के आसपास के स्कूलों को बंद रखने के लिए शिक्षा विभाग को भी निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही बाघ को मारने के लिए क्षेत्र मे शिकारी दल को तैनात कर दिया गया है। वन विभाग की टीम पिजरों सहित अन्य गांवों मे गश्त कर रहा है।

शिकारी दल मे विशेषज्ञ डॉ. हिमांशु पांगती और हरीश धामी को टीम के साथ तैनात किया गया है। साथ ही जिला प्रशासन ने छोटा कैलाश में श्रद्धालुओं की आवाजाही पर रोक लगा दी है। श्रद्धालुओं से कुछ दिनों तक छोटा कैलाश नहीं जाने की अपील भी की गई है। वन विभाग ने घटनास्थल पर 10 कैमरे और आसपास चार पिंजरे लगाये हैं।

गौरतलब है कि बीते दिन क्षेत्रीय लोगों ने विधायक राम सिंह कैडा के नेतृत्व मे डीएफओ कार्यालय का घेराव किया था और बाघ को मारने के आदेश देने की मांग के साथ नाराजगी जतायी थी। क्षेत्रीय विधायक ने मौके से ही वन मंत्री सुबोध उनियाल से बात की थी। शनिवार को गुलदार के हमले की शि‍कार पुष्पा का अंतिम संस्कार भी न करने की चेतावनी दी थी। हालांकि बाद मे अधिकारियों ने किसी तरह से मामला शांत किया।

वहीं जिलाधिकारी ने वन विभाग को बाघ को आदमखोर घोषित करने के लिए निर्देशित किया था। तीन दिनों में गुलदार ने 2 लोगों पर हमला किया है। इसमें मलुवाताल की इंद्रा बेलवाल और पिनरो की पुष्पा देवी की मौत हो गई थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;