वाराणसी हादसा: अभी तक नहीं आई जांच रिपोर्ट, सेतु निगम के एमडी की छुट्टी, अफसरों के वाराणसी छोड़ने पर रोक

वाराणसी हादसा होने के 48 घंटे बाद भी अभी तक जांच रिपोर्ट नहीं आई है। इस बीच फ्लाईओवर बना रही कंपनी उत्तर प्रदेश सेतु निगम के एमडी की छुट्टी कर दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 48 घंटे में जांच पूरी करने के आदेश दिए थे।

पीएम मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में पुल गिरने से हुए हादसे की जांच जारी है, लेकिन जांच पूरी होने से पहले ही फ्लाईओवर बना रही कंपनी उत्तर प्रदेश सेतु निगम के एम डी राजन मित्तल को हटा दिया गया है। उनकी जगह नेशनल हाईवे के मुख्य अभियंता जे के श्रीवास्तव को सेतु निगम का नया एमडी बनाया गया है। श्रीवास्तव के पास सेतु निगम के साथ-साथ राजकीय निर्माण निगम के एमडी का भी कार्यभार है।

गौरतलब है कि दो दिन पहले वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के दो भारी-भरकम स्लैब गिरने से उसके नीचे दर्जनों वाहन दब गए थे और करीब दो दर्जन लोगों की मौत हो गई थी। अधिकारिक तौर पर तो सिर्फ 18 लोगों की मौत की पुष्टि की गई थी, लेकिन चश्मदीदों के मुताबिक इस हादसे में कम से कम 100 लोगों की मौत हुई थी।

हादसे के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव राज प्रताप सिंह की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच समिति बनाकर 48 घंटे में रिपोर्ट देने को कहा था। लेकिन जांच समिति की रिपोर्ट आने से पहले ही सेतु निगम के एमडी राजन मित्तल की छुट्टी कर दी गई। सूत्रों का कहना है कि जांच रिपोर्ट में हादसे के लिए जिम्मेदार अफसरों में राजन मित्तल का भी नाम शामिल हो सकता है। खबर लिखे जाने तक इस हादसे की रिपोर्ट मुख्यमंत्री को नहीं सौंपी गई थी।

एमडी पद से राजन मित्तल को हटाए जाने की जानकारी उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने एक ट्वीट के जरिए दी। उन्होंने बताया कि जे के श्रीवास्तव को राज्य सेतु निगम का नया एम डी बनाया गया है। मौर्य ने बताया कि फ्लाईओवर हादसे के बाद दिन-प्रतिदिन घट रही घटनाओं तथा निष्पक्ष जांच के मद्देनजर राजन मित्तल को एमडी पद से हटाया गया है। इससे पहले सेतु निर्माण निगम के मुख्य परियोजना प्रबंधक एच सी तिवारी, परियोजना प्रबंधक के आर सूदन, सहायक अभियंता राजेश सिंह और अवर अभियंता लाल चंद को निलंबित कर दिया था।

इस बीच मामले की जांच कर रही वाराणसी पुलिस ने कहा है कि उसने प्रोजेक्ट मैनेजर से जानकारी ली है। साथ ही सेतु निगम के अधिकारियों को बिना पुलिस को सूचना दिए वाराणसी छोड़ने पर पाबंदी लगा दी गई है। वाराणसी के एसपी क्राइम जे एन पांडे ने बताया कि इस मामले की जांच जारी है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें