वाराणसी कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने में हिंदुओं को पूजा की दी इजाजत, हाईकोर्ट जाएगा मुस्लिम पक्ष

मुस्लिम पक्ष ने कहा कि वह कोर्ट के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करेगा। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के वकील अखलाक अहमद ने कहा कि यह फैसला गलत है। पूर्व के आदेशों की अनदेखी करते हुए यह आदेश दिया गया है। हम लोग इसके खिलाफ हाईकोर्ट जाएंगे।

वाराणसी कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने में हिंदुओं को पूजा की दी इजाजत
वाराणसी कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने में हिंदुओं को पूजा की दी इजाजत
user

नवजीवन डेस्क

वाराणसी की जिला अदालत ने ज्ञानवापी विवाद में बुधवार को हिंदू पक्ष के हक में बड़ा फैसला दिया है। वाराणसी कोर्ट ने आज हिंदुओं को ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर सीलबंद व्यास तहखाने के अंदर पूजा करने की इजाजत दे दी। कोर्ट ने जिला प्रशासन को अगले सात दिनों में इसके लिए जरूरी इंतजाम करने को कहा है।

अदालत के आदेश के अनुसार, हिंदू श्रद्धालु अब ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर एक सील क्षेत्र 'व्यास का तहखाना' में प्रार्थना कर सकते हैं। हिंदू पक्ष का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील विष्णु शंकर जैन ने कहा, "हिंदू पक्ष को 'व्यास का तहखाना' में प्रार्थना करने की अनुमति दी गई है। जिला प्रशासन को सात दिनों के अंदर व्यवस्था करनी होगी। अब सभी को पूजा करने का अधिकार होगा।"


वाराणसी के ज्ञानवापी परिसर स्थित व्यास तहखाना में पूजा पाठ करने के अधिकार देने की मांग वाली शैलेंद्र कुमार पाठक की याचिका पर कल सुनवाई के बाद जिला जज ने आदेश सुरक्षित कर लिया था, जिसपर आज फैसला आया है। हिंदू पक्ष ने इसे बड़ी जीत बताया है और 30 साल बाद न्याय मिलने का दावा किया है। काशी विश्वनाथ ट्रस्ट बोर्ड की तरफ से पूजा अर्चना करवाई जाएगी।

वहीं, मुस्लिम पक्ष ने कहा कि वह कोर्ट के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करेगा। मुस्लिम पक्ष यानी अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के वकील अखलाक अहमद ने कहा कि यह फैसला गलत है। पूर्व के आदेशों की अनदेखी करते हुए यह आदेश दिया गया है। हम लोग इसके खिलाफ हाईकोर्ट जाएंगे।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;