अस्पताल से ममता बनर्जी का वीडियो संदेश, कहा- जल्द काम पर लौटूंगी, बनाए रखें शांति, 'हमले' पर सियासत गरम

अस्पताल से वीडियो संदेश में ममता बनर्जी ने कहा कि मुझे हाथ, पैर और लिगामेंट में चोटें लगी हैं। मैं कार के पास खड़ी थी जब मुझे कल धक्का दिया गया था। मैं जल्द ही कोलकाता से रवाना हो जाऊंगी। उन्होंने आगे कहा कि उन्‍हें कुछ दिन व्‍हीलचेयर पर रहना होगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

विनय कुमार

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अस्पताल से वीडियो संदेश जारी कर समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने कहा कि मैं सभी से शांत रहने और संयम बनाए रखने की अपील करती हूं। ऐसा कुछ भी न करें जिससे लोगों को असुविधा हो।

उन्होंने आगे कहा कि मुझे हाथ, पैर और लिगामेंट में चोटें लगी हैं। मैं कार के पास खड़ी थी जब मुझे कल धक्का दिया गया था। मैं जल्द ही कोलकाता से रवाना हो जाऊंगी। उन्होंने आगे कहा कि उन्‍हें कुछ दिन व्‍हीलचेयर पर रहना होगा। मैं दो-तीन में वापस लौटूंगी। मेरी पैर की चोट एक समस्‍या है लेकिन मैं इस समस्‍या को मैनेज कर लूंगी।


दूसरी ओर नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के घायल होने के बाद राज्य में राजनीति गरम हो गई है। बुधवार को तृणमूल ने इस हमले के पीछे अपने राजनीतिक विरोधियों को दोषी ठहराते हुए इसे साजिश करार दिया, जो कि बनर्जी को बंगाल के लोगों से मिली जोरदार प्रितिक्रिया के चलते रची गई। तृणमूल के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, "इस र्दुभावना पूर्व घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर मामला दर्ज होना चाहिए। घटना के 30 मिनट के अंदर ही जो बयान आए, वे निंदनीय हैं।"

अभिजीत मुखर्जी ने कहा, "मैं दीदी के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं! इसके पीछे जो भी लोग हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाना चाहिए। दीदी, अभी आपको आगे बढ़ने के लिए बड़ी लड़ाई लड़नी है, आप निश्चित तौर पर विजयी हों। मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं, एक बार फिर आपके जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।"

उधर बीजेपी ने कहा है कि यह एक दुर्घटना हो सकती है, वैसे नंदीग्राम ममता बनर्जी से नाराज है। पार्टी ने कहा, "बनर्जी इस घटना के लिए बेवजह दोषी ठहरा रही हैं क्योंकि मौके पर मौजूद गवाहों ने इसे एक्सीडेंट बताया है। ऐसा लगता है कि जब उनका ड्राइवर कार मोड़ रहा था, तब उनका एक पैर दरवाजे के बीच आ गया।"

कोलकाता जाने से ठीक पहले तृणमूल सुप्रीमो ने बुधवार को मीडिया से कहा था कि उन्हें बिरुलिया अंचल में 4-5 लोगों ने धक्का दिया था और उनकी कार का दरवाजा बंद कर दिया था। उस समय उसके आसपास कोई पुलिस कर्मी नहीं था। एक एसयूवी की अगली सीट पर बैठीं ममता अपने पैर की इशारा करते हुए कह रही हैं कि, "देखें यह कैसे सूजा हुआ है।"

जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि यह एक सुनियोजित हमला है, तो उन्होंने कहा, "बेशक यह एक साजिश है .. मेरे आसपास कोई पुलिसकर्मी नहीं थे।" इस दौरान उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत भी की।


नंदीग्राम में नामांकन दाखिल करने के बाद उनकी एक रात वहीं रुकने की योजना थी लेकिन इस घटना के बाद उन्हें 130 किमी दूर कोलकाता वापस जाना पड़ा।

बता दें कि ममता बनर्जी ने बुधवार को नंदीग्राम विधानसभा सीट से चुनावी समर में उतरने के लिए अपना नामांकन दाखिल करने के बाद हल्दिया में 2 किलोमीटर लंबे रोड शो में हिस्सा लिया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia