राहुल गांधी का देश के नाम वीडियो संदेश, उंगलियों पर गिनकर बता दिया, आखिर क्यों भारत के खिलाफ आक्रामक हुआ चीन

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत और चीन विवाद को लेकर एक वीडियो ट्वीट किया। राहुल गांधी ने कहा कि सवाल उठता है कि आखिरकार चीनियों ने यही वक्त क्यों चुना। इस वीडियो में अर्थव्यवस्था, पड़ोसियों के साथ संबंध और विदेश नीति पर राहुल गांधी ने खुलकर अपनी बात रखी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश के अलग-अलग मुद्दों पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक वीडियो संदेश जारी किया है। उन्होंने वीडियो संदेश में कहा, “2014 के बाद से पीएम की लगातार गलतियों ने भारत को मौलिक रूप से कमजोर किया है और हमें कमजोर बना दिया है। खाली शब्द पर्याप्त नहीं हैं।”

राहुल गांधी ने अपने वीडियो संदेश में कहा, “सवाल यह है कि चाइना ने इस तरह का कदम उठाने के लिए यही समय क्यों चुना? यह समझने के लिए हमें अलग-अलग पर चीजों पर नजर डालनी पड़ेगी। देश सिर्फ किसी एक चीज से सुरक्षित नहीं होता, उसके सुरक्षित रहने के पीछे अलग-अलग चीजें और व्यवस्थाएं होती हैं। देश को वैश्विक रणनीति के तहत सुरक्षित रखा जाता है। इसे नेबरहुड द्वारा सुरक्षित रखा जाता है। देश को उसकी अर्थव्यव्था सुरक्षित रखती है। देश को वह भावना सुरक्षित रखती है जो उस देश के लोगों में रहती है। लेकिन पिछले 6 सालों नें क्या हो रहा है, इन सभी क्षेत्रों में भारत परेशान है और नाकाम हुआ है।”


राहुल गांधी ने आगे कहा, “मैं इन सभी मुद्दो पर बात करूंगा। पहले हम विदेश नीति बात करते हैं। दुनिया में हमारे रिश्ते कई देशों से अच्छे होने चाहिए। अमेरिका से रिश्ते और अमेरिका के साथ रणनीतिक साझेदारी बहुत महत्वपूर्ण है। हमारा रूस के साथ संबंध था, यूरोप के साथ हमारा संबंध था। लेकिन आज हमारे इन देशों से रिश्ते लेनदेन में तब्लील हो गए हैं। अमेरिका से हमारे लेनदेन के रिश्ते हैं। रूस से हमने अपने रिश्ते को विक्षुब्ध किया है।”

राहुल गांधी ने कहा, “अब हमारे पड़ोसी देशों से भी रिश्ते ठीक नहीं हैं। पहले नेपाल हमारा दोस्त था, भूटान हमारा दोस्त था, श्रीलंका हमारा दोस्त था। पाकिस्तान को छोड़कर बाकी पड़ोसी देश भारत के साथ मिलकर काम कर रहे थे। लेकिन आज हालत यह है कि नेपाल हमसे गुस्सा है। श्रीलंका ने चीन को पोर्ट दे दिया है। मालदीव डिस्टर्ब है यहां तक की भूटान भी डिस्टर्ब है। हमने अपने विदेशी सहयोगियों को बाधित किया है और हमने अपने पड़ोसियों को बाधित किया है।”

कांग्रेस नेता अपने वीडियो संदेश में आगे कहा, “अब बात अर्थव्यवस्था की करते हैं। दुनिया में हमारी अर्थव्यवस्थ की कभी चर्चा होती थी, जिस पर हम गर्व करते थे। लेकिन, फिलहाल पिछले 50 सालों में आज हमारी अर्थव्यवस्था की सबसे बुरी हालत में है। पूरी तरह से अर्थव्यवस्था चौपट हो गई है। देश में बेरोजगारी चरम पर है। पिछले 40-50 सालों में देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है। हमारी मजबूती अचानक हमारी कमजोरी बन गई है। हमने सरकार से कई बार कहा, देखिए कृपया ध्यान दीजिए, इस बात को समझिए कि दिन प्रतिदिन हम असुरक्षित हो रहे हैं।”

राहुल गांधी ने कहा, “यह सभी मुद्दे आपस में जुड़े हुए हैं। वे अलग-अलग नहीं हैं। जब आप किसी राष्ट्र को देखते हैं, तब सभी चीजों को एकसाथ लेकर चलना होता है। हमने कहा, भगवान के लिए अर्थव्यवस्था में पैसा झोंकिए, जिससे अर्थव्यवस्था में तेजी आ सके और यह तुरंत कीजिए। छोटे और मध्यम व्यापार को बचाइए, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया। इस प्रकार आज हमारा देश आर्थिक रूप से संकट में है। विदेश नीति भी ध्वस्त होने के दौर में है। पड़ोसियों से रिश्ते खराब हैं। यही वजह है कि चीन ने यह फैसला लिया है, उसके हिसाब से भारत के खिलाफ कार्रवाई करने का संभवत: यह बेहतर समय है। उसके आक्रमक होने का यही निर्णायक कारण है।”


गौरतलब है कि कोरोना संकट में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कई एक्सपर्ट से बात की है। फिर चाहे वो अर्थव्यवस्था के दिग्गज हो या फिर बिजनेसमैन, इसके अलावा दुनिया के कई बड़े मेडिकल एक्सपर्ट्स से भी राहुल गांधी चर्चा कर चुके हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 17 Jul 2020, 1:04 PM