वीडियो: असम की एक जनसभा में राहुल गांधी ने अपने गमछे पर लिखे CAA का समझाया मतलब, भीड़ ने दी ये प्रतिक्रिया, देखिए

असम के शिवसागर में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि असम का सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार है। असम का युवा जानता है कि बीजेपी सरकार में रोजगार नहीं मिलेगा। नरेंद्र मोदी खेती को खत्म करने के लिए तीन कृषि कानून लाए हैं। हम यहां सरकार में आएंगे तो जो नफरत फैलाई जा रही है वो खत्म होगी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने असम के शिवसागर में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने अलग-अलग मुद्दों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यह कभी मत भूलिएगा कि जितनी आपको देश की जरूरत है। उनती ही देश को भी आपकी जरूरत है। उन्होंने कहा कि जब असम में हिंसा होगी, असम बटेगा तो हिंदुस्तान को चोट पड़ेगी और असम को चोट पड़ेगी और यह हम नहीं चाहते हैं, और यह हम नहीं होने देंगे।

राहुल गांधी ने मंच से कहा कि हमने यह गमछा पहना है। यह मैं आको दिखा देता हूं। इस पर लिखा है सीएए और इस पर हमने क्रॉस लगा रखा है। मतलब यह है कि चाहे कुछ भी हो जाए सीएए नहीं होगा। राहुल गांधी ने कहा कि ‘हम दो, हमारे दो’ अच्छी तरह सुन लो सीएए कभी नहीं होगा। राहुल गांधी के इस बयान के बाद सभा में मौजूद लोग राहुली गांधी जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। कुछ दिन पहले भी राहुल गांधी ने लोकसभा में बजट पर चर्चा के दौरान ‘हम दो, हमारे दो’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था। उनका इशारा, पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, अडाणी और अंबानी की ओर था।


शिवसागर में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा, “असम का सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार है। असम का युवा जानता है कि बीजेपी सरकार में रोजगार नहीं मिलेगा। नरेंद्र मोदी खेती को खत्म करने के लिए तीन कृषि कानून लाए हैं। हम यहां सरकार में आएंगे तो जो नफरत फैलाई जा रही है वो खत्म होगी। हिंदुस्तान की सरकार ने तरुण गोगोई जी का और इस प्रदेश का अपमान किया है। असम की जनता में वो क्षमता है कि अवैध प्रवास के मुद्दे को मिलकर सुलझाया जा सकता है। अगर यह प्रदेश फिर से बंट गया, जो बीजेपी और आरएसएस रोज करते हैं तो असम का नुकसान होगा।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia