क्या करने चले थे और क्या कर गए इमरान खान, अब उनके ही पार्टी के नेता छोड़ना चाहते हैं पाकिस्तान

सत्ता से सरोकार रखने वाले पाकिस्तानी अल्पसंख्यक भी अत्याचार के शिकार हैं। ऐसे ही अत्याचार से त्रस्त एक पूर्व विधायक बलदेव कुमार ने भारत से राजनीतिक शरण की मांग की है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार की खबरें तो आम है। लेकिन, वहां रहने वाले खास अल्पसंख्यक भी सुरक्षित नहीं हैं। सत्ता से सरोकार रखने वाले पाकिस्तानी अल्पसंख्यक भी अत्याचार के शिकार हैं। ऐसे ही अत्याचार से त्रस्त एक पूर्व विधायक बलदेव कुमार ने भारत से राजनीतिक शरण की मांग की है। खास बात ये है कि बलदेव सिंह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए इंसाफ (PTI) के नेता हैं और पाकिस्तान के खैबर पख्तून ख्वा प्रांत के बारीकोट आरक्षित सीट से विधायक रहे हैं।

बलदेव कुमार इस वक्त भारत के पंजाब राज्य के खन्ना में रह रहे हैं। न्यूज चैनल आजतक के मुताबिक बलदेव कुमार अपने परिवार समेत पाकिस्तान से जान बचाकर भारत आए हैं। उनका कहना है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक दहशत के माहौल में रहने को मजबूर हैं। खैबर पख्तून ख्वा से कभी विधायक रहे बदलेव कुमार को इमरान खान से बहुत उम्मीदें थीं, लेकिन इमरान सरकार ने बदलेव कुमार की उम्मीदों पर पूरी तरह से पानी फेर दिया है। उनका कहना है कि इमरान खान के सत्ता में आने के बाद हालात और बिगड़े हैं और हिंदुओं, सिखों पर जुल्म बढ़ा है।

बदलदेव कुमार का परिवार तीन महीने से पंजाब के लुधियाना में अपने एक रिश्तेदार के घर रह रहा है। 12 अगस्त से बलदेव भी भारत में ही रह रहे हैं। बलदेव तीन महीने के वीजा पर यहां आए हैं। लेकिन, अब वो वापस पाकिस्तान नहीं जाना चाहते। बलदेव का कहना है कि अल्पसंख्यकों पर पाकिस्तान में अत्याचार हो रहे हैं। हिंदू और सिख नेताओं की हत्याएं की जा रही हैं, इसलिए वो जल्द ही भारत में शरण के लिए आवदेन करेंगे। बलदेव को इमरान खान से उम्मीदें थीं कि वो एक नया पाकिस्तान बनाएंगे, लेकिन वो अपनी जनता, खासतौर पर अल्पसंख्यकों की सुरक्षा करने में नाकाम रहे हैं।

Published: 10 Sep 2019, 9:29 AM
लोकप्रिय