नागरिकता कानून के खिलाफ दिल्ली के सीलमपुर में हिंसक प्रदर्शन, बसों में तोड़फोड़, कई मेट्रो स्टेशन बंद

दिल्ली के जाफराबाद में नागरिकता संशोधन कानून पर प्रदर्शन के दौरान पुलिस और प्रदर्शनाकिरयों में झड़प हुई है। इस दौरान पुलिस ने आंंसू गैस के गोले छोड़े हैं। वहीं, प्रदर्शनकारियों की ओर से पुलिस पर पथराव भी किया गया है।

फोटो: @ReutersIndia
फोटो: @ReutersIndia

नवजीवन डेस्क

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ अब दिल्ली के सीलमपुर और जाफराबाद में हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गया है। खबरों के मुताबिक, सीलमपुर में हिंसक प्रदर्शन के दौरान भीड़ ने बसों पर पथराव भी की है। वही जाफराबाद में पुलिस और प्रदर्शनाकिरयों में झड़प हुई है। इस दौरान पुलिस ने आंंसू गैस के गोले छोड़े हैं। वहीं, प्रदर्शनकारियों की ओर से पुलिस पर पथराव भी किया गया है। खबरों के मुताबिक, दो बसों में तोड़फोड़ की गई है। बड़ी संख्या में पुलिस मौजूद है।

दिल्ली पुलिस डीसीपी चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि पुलिस ने हिंसक भीड़ को रोकने और शांति के लिए अपनी जिम्मेदारी निभाई है। जामिया के मामले में एक गलत तस्वीर पेश की जा रही है, जिसमें पुलिसकर्मी को एक छात्र संगठन का सदस्य बताया जा रहा है। यह झूठ है, उन तस्वीरो में दिख रहा पुलिसकर्मी 'बंदोबस्त' का हिस्सा है। इसमें सादे कपड़े में भीड़ के बीच पुलिसकर्मी रहते हैं, जिससे कि उपद्रवियों को गिरफ्तार किया जा सके।

प्रदर्शन के कारण सीलमपुर, जाफराबाद, वेलकम, मौजपुर-बाबपुर, गोकुलपुरी समेत कई मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है। इन मेट्रो स्टेशन पर मेट्रो नहीं रूक रही है।

दिल्ली यातायात पुलिस ने सीलमपुर और जाफराबाद इलाके में हिंसक प्रदर्शन के बाद 66 फीट सड़क को बंद किया गया।

गौरतलब है कि रविवार को भी दिल्ली में जमिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों ने भी प्रदर्शनकारियों के साथ मिलकर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। बता दें कि सीलमपुर के आसपास बहुत ज्यादा आबादी में मुस्लिम रहते हैं। इस पूरे इलाके में जम भी लग गया है। इसमें बड़ी संख्या में स्थानीय लोग शामिल हैं। इसके चलते सीलमपुर में कई सड़कों पर जाम लग गया है।

Published: 17 Dec 2019, 3:48 PM
लोकप्रिय