लखीमपुर के बीजेपी नेताओं को पता था बड़ा बवाल होने वाला है? केंद्रीय मंत्री ने खुद दी थी देख लेने की धमकी

क्या लखीमपुर में जो कुछ हुआ उसकी भनक पहले से बीजेपी नेताओं को थी? क्या इसी वजह से कई बीजेपी नेताओं ने खुद को डिप्टी सीएम के कार्यक्रम से खुद को दूर रखा? क्या केंद्रीय गृह राज्यमंत्री की धमकी के बाद बनने लगा था कोई माहौल?

Getty Images
Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

लखीमपुर खीरी में कुछ बड़ा होने वाला है, इसकी आशंका स्थानीय बीजेपी नेताओं को पहले से थी। दैनिक अखबार अमर उजाला की खबर के मुताबिक बीजेपी के एक प्रमुख पदाधिकारी ने बताया कि उन्होंने पार्टी के अन्य लोगों को भी इस बारे में अवगत कराया था। बीजेपी के ही एक अन्य नेता ने बताया कि जब किसानों ने गृह राज्य मंत्री को काले झंडे दिखाए थे और उसके बाद अलग अलग कारणों से कुछ झंडे दिखाने वालों के खिलाफ मुकदमे दर्ज हुए, जिसके बाद से ही माहौल तनावपूर्ण हो गया था

अमर उजाला के मुताबिक यही वजह थी कि पार्टी के कई प्रमुख पदाधिकारियों से लेकर कई नेता कार्यक्रम में जाने से बचते रहे।

अमर उजाला ने लिखा है कि 'लखीमपुर जिला बीजेपी नेता बताते हैं किसी भी स्तर पर होने वाले बवाल को लेकर सुनवाई न होने से फिलहाल उन्होंने और उनके कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम स्थल पर जाने का प्रोग्राम रद्द कर दिया, क्योंकि उनको पता था कि मामला उल्टा पड़ सकता है और वही हुआ भी।

अमर उजाला को पलिया के निवासी सरदार हुकम सिंह बताते हैं कि उनके कई रिश्तेदारों के खिलाफ कोविड का उल्लंघन करने की एफआईआर दर्ज करवाई गईं। वह कहते हैं कि इस दौरान केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को हम किसानों ने काले झंडे दिखाए थे। उनका कहना है कि क्या अपना विरोध प्रदर्शन करते हुए हम लोग नेता को काले झंडे नहीं दिखा सकते। लेकिन मंत्री ने खुले आम धमकी दी, लेकिन उनके खिलाफ कोई एफआईआर नहीं दर्ज हुई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia