हालात

वीडियो: फिर से सुर्खियों में आजादी के नारे, रैप सॉन्ग के जरिए कांग्रेस ने बीजेपी की खोली पोल, और शुरू हो गयी सियासत

लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले बीजेपी और कांग्रेस में जंग और तेज हो गई है। इस बार जंग का हथियार बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह की आने वाली फिल्म ‘गली ब्वॉय’ का एक गाना बना है। जिसके बोल हैं ‘आजादी’।

फोटो: सोशल मीडिया 

नवजीवन डेस्क

‘आजादी’ बोल को लेकर एक बार फिर सियासी जंग छिड़ गई है। कांग्रेस और बीजेपी ने एक-दूसरे के खिलाफ आजादी की वीडियो बनाकर हमला बोला है। दरअसल, कांग्रेस ने अपने ट्वीटर पर एक वीडियो जारी करते हुए कैप्शन लिखा, डर के आगे जीत है। अपने वीडियो में कांग्रेस ने मोदी सरकार पर भ्रष्टाचारी और बेरोजगारी को लेकर हमला बोला है। इसमें आखिर में राहुल गांधी कह रहे हैं, “जिस दिन हम साथ खड़े हो जाएंगे, उस दिन आरएसएस, बीजेपी और मोदी भागेंगे”

कांग्रेस की ओर जारी वीडियो में जस्टिस लोया केस, राफेल सौदा, गौरी लंकेश, नोटबंदी, जीएसटी, रोजगार समेत कई मुद्दों पर बीजेपी सरकार को घेरा है। इसके साथ मोदी के चौकीदार बनाने वाले बयान और कांग्रेस अध्यक्ष के नारे 'चौकीदार चोर है' को दर्शाया गया है। एक मिनट 51 सेकेंड के इस वीडियो में फिल्म गली ब्वॉय का रैप आजादी चल रहा है, जबकि सामने इस मुद्दों की तस्वीरें और वीडियो दिखाए गए हैं।

इससे पहले बीजेपी ने शुक्रवार को इसी आजादी रैप पर वीडियो जारी किया। इसमें भी वही रैप आजादी चल रहा है लेकिन सामने तस्वीरें बदल हुई हैं। बता दें कि दोनों वीडियो में फिल्म गली ब्वॉय के पॉपुलर रैप सॉन्ग आजादी की तर्ज पर बनाया गया है।

इससे पहले भी ‘हमको चाहिए आजादी’ को नारे सुर्खियां बटोर चुके हैं। राजधानी दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्विद्यालय में 9 फरवरी, 2016 को अफजल गुरु मकबूल भट्ट के फांसी के विरोध में साबरमती ढाबे के पास सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया था, जिसमें ‘हमको चाहिए आजादी’ के नारे लगे थे।

अक्सर भारतीय समझते हैं कि ये नारा कश्मीरी आंदोलन से जुड़ा है। लेकिन आजादी के बोल सबसे पहले पाकिस्तान से शुरूआत हुआ था। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल मुहम्मद ज़िया उल हक़ पाकिस्तान के चौथे फ़ौजी तानाशाह और छठे राष्ट्रपति थे। उनके दौर में सहसे पहला जो नारा उठा था वो ‘औरत का नारा आजादी, बच्चों का नारा आजादी, हम लेकर रहेंगे आजादी’ था। यही से आजादी नारे की शुरुआत हुई थी। दक्षिण एशिया में महिला संगठनों के संघर्ष में कमला भसीन का नाम बहुत आदर से लिया जाता है। उन्होंने कहा कि यह नारा कमला भसीन ने पाकिस्तानी महिलाओं से सुना था। उन्होंने आगे बताया कि 1968 में अयूब खां की डिक्टेटरशिप के विरोधी छात्रों ने भी रावलपिंडी से कराची तक की सड़कों पर ये नारा खूब लगाया।

बता दें कि इस फिल्म में रणबीर सिंह, आलिया भट्ट और कलकि कोचलिन लिडिंग रोल में हैं। जोया अख्तर इस फिल्म की डायरेक्टर हैं। फिल्म 14 फरवरी 2019 को रिलीज होगी।

Published: 9 Feb 2019, 8:14 PM
लोकप्रिय