वीडियो: पीएम मोदी बोले- विपक्ष के लोग नंबर की चिंता छोड़े, हमारे लिए उनकी भावना मूल्यवान

सत्र की शुरुआत से पहले पीएम मोदी ने विपक्ष से सहयोग की अपील की। उन्‍होंने कहा कि हमारे लिए विपक्ष का हर शब्द मूल्यवान है। हमारे लिए उनकी हर भावना मूल्यवान है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

संसद का सत्र शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष के लोग नंबर की चिंता छोड़ दें, हमारे लिए उनकी भावना मूल्यवान है। उन्होंने कहा कि संसद में हम पक्ष-विपक्ष को छोड़ निष्पक्ष होकर काम करेंगे। पीएम ने कहा कि हमें उम्मीद है कि इस बार सदन में अधिक काम होगा।

पीएम ने आगे कहा, “चुनाव के बाद नई लोकसभा के गठन के बाद आज पहला सदन शुरू हो रहा है। नए साथियों से परिचय का एक अवसर है। आजादी के बाद सबसे ज्यादा मतदान, सबसे ज्यादा महिलाओं को चुना जाना, महिला मदाताताओं का मतदान करना अनेक विशेषताओँ से भरा हुआ यह चुनाव रहा।”

पीएम मोदी ने आगे कहा कि जनता ने दोबारा सेवा करने का असवर दिया है। पीएम मोदी ने ऊर्जावान विपक्ष के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष का होना, सक्रिय होना और सामर्थ्यवान होना अनिवार्य शर्त है।

उन्होंने कहा, “मैं आशा करता हूं कि प्रतिपक्ष के लोग नंबर की चिंता छोड़ दें। हमारे लिए उनका हर शब्द मूल्यवान है, हर भावना मूल्यवान है। जब हम चेयर पर एमपी के रूप में बैठते हैं तो पक्ष-विपक्ष से ज्यादा निष्पक्ष की भावना बहुत महत्वपूर्ण है। मुझे विश्वास है कि निष्पक्ष भाव से जनकल्याण की भावना को ध्यान में रखकर सभी सदस्य इस सदन की गरिमा को ऊंचा उठाने में योगदान करेंगे।”

वहीं प्रोटेम स्पीकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सदन के नेता को लोकसभा सदस्य के रूप में शपथ दिलाई। पीएम मोदी के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, सड़क एंव परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, रसायन एवं खाद मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, डॉक्टर हर्षवर्धन, रमेश पोखरियाल, बीजेपी सांसद अश्वनी कुमार चौबे, किरण रिजिजू, जितेंद्र सिंह, गिरिराज सिंह, प्रह्लाद जोशी, राव इंद्रजीत सिंह, प्रह्लाद सिंह पटेल, अर्जुन राम मेघनाल, कृष्णपाल गुर्जर, साध्वी निरंजन ज्योति, बाबुल सुप्रियो, शिवसेना के अरविंद सावंत समेत सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई नेताओं ने सांसद के तौर पर शपथ ली।

लोकप्रिय