भारत रत्न का स्वागत, लेकिन स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू होनी चाहिएः राकेश टिकैत

केंद्र की मोदी सरकार ने भारत रत्न देने के लिए शुक्रवार को तीन नामों की घोषणा की, जिनमें पूर्व प्रधानमंत्री चरण सिंह, पीवी. नरसिम्हा राव के अलावा डॉ. एमएस स्वामीनाथन शामिल हैं।

राकेश टिकैत ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग की
राकेश टिकैत ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग की
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी की अगुवाई वाली केंद्र की मोदी सरकार ने शुक्रवार को पूर्व प्रधानमंत्री चरण सिंह, पीवी. नरसिम्हा राव के अलावा कृषि वैज्ञानिक डॉ. स्वामीनाथन को भारत रत्न देने का ऐलान किया।चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न से सम्मानित किए जाने की घोषणा का भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने स्वागत किया है।

राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों की बहुत पुरानी डिमांड थी कि किसान मसीहा और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न दिया जाए। आज वह मांग पूरी हुई। साथ ही डॉ. स्वामीनाथन और पीवी नरसिम्हा राव को भी भारत रत्न दिया गया है। हम भारत सरकार का तहेदिल से इसके लिए शुक्रिया अदा करते हैं।


टिकैत ने कहा कि डबल शुक्रिया भी अदा कर देंगे, अगर डॉ. स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू हो जाए, जिसका इंतजार लंबे समय से किसान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने सत्ता में आने से पहले अपने घोषणा पत्र में डॉ. स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट लागू करने को कहा था। बीजेपी ने देश में दो बार अपनी सरकार बनाई। लेकिन आज तक सिफारिश लागू नहीं की गई।

राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों की फसल सस्ते में लूटी जा रही है, दिल्ली में 13 महीने तक किसानों का धरना प्रदर्शन चला, देश में एमएसपी गारंटी कानून एक बड़ा मुद्दा है, जिसे लागू होना चाहिए। लोकसभा चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि हम राजनीतिक लोग नहीं हैं, जनता खुद तय करेगी, वोट देना है या नहीं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;