पश्चिम बंगाल: ममता बनर्जी सीएम रहेंगी या नहीं भवानीपुर के उपचुनाव में आज होगा फैसला, थोड़ी देर में शुरु होगा मतदान

पश्चिम बंगाल की भवानीपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव आज है। अब से कुछ देर बाद मतदान शुरु हो जाएगा। इस सीट से ममता बनर्जी चुनाव लड़ रही हैं। इस उपचुनाव के नतीजे तय करेंगे कि ममता बनर्जी बंगाल की मुख्यमंत्री रहेंगी या नहीं।

सोशल मीडिया
सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

पश्चिम बंगाल के भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के लिए अभूतपूर्व सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। इस सीट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चुनाव मैदान में हैं। चुनाव आयोग ने यहां केंद्रीय बलों की अतिरिक्त 20 कंपनियों को तैनात करने का फैसला किया है, जिसके बाद तैनात होने वाली कुल कंपनियों की संख्या 35 हो गई है। इस सीट पर आज मतदान होगा और वोटों की गिनती रविवार को होगी। बीजेपी ने ममता के खिलाफ प्रियंका टिबरेवाल को मैदान में उतारा है। जबकि मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) ने श्रीजीव विश्वास को अपनी पार्टी का उम्मीदवार बनाया है। लेकिन मोटे तौर पर मुकाबला ममता और प्रियंका टिबरेवाल के बीच ही है।

चुनाव आयोग के अधिकारियों के अनुसार, केंद्रीय बलों की अतिरिक्त 20 कंपनियां गश्ती ड्यूटी के लिए तैनात की जाएंगी, क्योंकि व्यापक तौर पर आरोप हैं कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस मतदाताओं को धमका रही है और उन्हें मतदान केंद्रों पर जाने से रोकने की कोशिश कर रही है। चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने कहा, "किसी भी तरह की गैरकानूनी सभा और अप्रिय स्थिति को रोकने के लिए अतिरिक्त कंपनियों को भी तैनात किया जाएगा।"

इसके अलावा इस उपचुनाव के लिए राज्य बलों के 2,250 जवानों को तैनात किया गया है, लेकिन उन्हें मतदान केंद्रों के अंदर तैनात नहीं किया जाएगा।

फोटो : आईएएनएस
फोटो : आईएएनएस

चुनाव आयोग के अधिकारी ने बताया, "वर्तमान में निर्वाचन क्षेत्र में तैनात केंद्रीय बलों की 15 कंपनियां मतदान केंद्रों की देखभाल करेंगी। कतार का प्रबंधन करने के लिए मतदान केंद्रों के बाहर दो कांस्टेबल होंगे, लेकिन सुरक्षा की जिम्मेदारी पूरी तरह से केंद्रीय बलों पर होगी।" चुनाव आयोग ने इस सीट के सभी 287 बूथों को संवेदनशील घोषित करने के अलावा सभी बूथों पर एक-एक माइक्रो-ऑब्जर्वर तैनात करने का फैसला किया है।

अधिकारी ने कहा, "आयोग ने 13 बूथों को सुपर-सेंसिटिव (अति संवेदनशील) घोषित किया है। मित्रा इंस्टीट्यूशन, जिस बूथ पर बनर्जी को वोट डालना है, उसे भी सुपर-सेंसिटिव घोषित किया गया है। न केवल अति संवेदनशील बूथों पर, बल्कि कई अन्य बूथों पर भी वेब-कास्टिंग की जाएगी। चुनाव आयोग चुनाव प्रक्रिया के विकास पर कड़ी नजर रखेगा।"


कोलकाता में पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश को देखते हुए आयोग ने लोगों के लिए मतदान केंद्रों तक पहुंचाने की व्यवस्था की है। चुनाव आयोग ने सभी लोगों से कहा है कि अगर वे अपने-अपने मतदान केंद्रों पर नहीं जा सकते हैं तो टोल फ्री नंबर 1950 पर कॉल करें। आयोग मतदाताओं को बूथों तक लाने और उनके मताधिकार का प्रयोग करने के बाद उन्हें वापस भेजने की व्यवस्था करेगा।

अधिकारी ने कहा, "अगर किसी इलाके में जलभराव होता है तो आयोग लोगों को उनके घरों से निकालने की व्यवस्था करेगा। इसके अलावा सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए जाएंगे, ताकि लोग अपने मताधिकार का इस्तेमाल खुलकर कर सकें।" आयोग मतदाताओं के लिए पर्याप्त सैनिटाइजर और दस्ताने की भी व्यवस्था कर रहा है। मतदान कर्मियों को रेनकोट दिया जाएगा, ताकि वे बारिश के बीच भी चुनाव करा सकें।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia