हालात

पश्चिम बंगालः दुर्गा पूजा समितियों को आयकर नोटिस पर भड़कीं ममता, आयोजकों को पेश होने से किया मना

पश्चिम बंगाल की दुर्गा पूजा समितियों को आयकर विभाग द्वारा नोटिस जारी करने पर राज्य की सीएम ममता बनर्जी भड़क गई हैं। उन्होंने आयोजकों को अधिकारियों के सामने पेश होने से मना कर दिया है।

फोटोः सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

केंद्र की मोदी सरकार और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के बीच जारी जंग में एक नया मोर्चा खुल गया है। टीएमसी प्रमुख और सीएम ममता बनर्जी एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर भड़क गई हैँ। इस बार मामला आयकर विभाग द्वारा राज्य की पूजा समितियों को भेजे गए नोटिस का है। आयकर विभाग की ओर से जारी इस नोटिस पर भड़कीं ममता बनर्जी ने पूजा समितियों को सख्त निर्देश जारी करते हुए एकता बनाए रखने और आयकर विभाग के अधिकारियों के सामने पेश नहीं होने के लिए कहा है।

दरअसल बीते दिनों राज्य की दुर्गा पूजा समितियों को टीडीएस फाइल करने के लिए इनकम टैक्स ने नोटिस भेजा था। इसी नोटिस पर आग बबूला हुईं ममता बनर्जी ने आयोजकों को आयकर विभाग के अधिकारियों के सामने पेश ना होने का निर्देश देते हुए कहा, “उन्होंने (मोदी सरकार) दुर्गा पूजा को भी नहीं छोड़ा। वे दुर्गा पूजा समितियों को इनकम टैक्स के नोटिस के जरिये डरा रहे हैं।” उन्होंने आगे कहा कि दुर्गा पूजा समितियां गैर लाभकारी संगठन हैं और ये समितियां पूजा आयोजन से कोई पैसा नहीं कमातीं। इसलिए, ये आयकर के दायरे में नहीं आती हैं। ममता बनर्जी ने आगे कहा, “केंद्र की सरकार की तरफ से इन्हें कोई पैसा नहीं दिया जाता। यहां के लोग चंदा इकट्ठा करते हैं। सभी दुर्गा पूजा समितियां आपस में एकता बनाए रखें और आयकर विभाग के अधिकारियों के सामने पेश न हों।”

गौरतलब है कि टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी लगातार बीजेपी और मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुई हैं। हाल ही में उन्होंने मोदी सरकार की महात्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना में राज्य की तरफ से योगदान नहीं देने का ऐलान किया था। इससे पहले बीते साल दिसंबर महीने में ममता बनर्जी ने राज्य के अधिकारियों को केंद्र के साथ प्रदेश का कोई भी डाटा साझा नहीं करने का निर्देश जारी करते हुए कहा था कि राज्य के सभी सरकारी विभाग अपनी जानकारी सुरक्षित रखने के लिए अपना खुद का पोर्टल बनवाएं। वहीं पिछले साल ही ममता बनर्जी ने सीबीआई से राज्य में किसी मामले की जांच का अधिकार छीन लिया था।

लोकप्रिय