बंगाल सरकार के मंत्री सुब्रतो मुखर्जी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, सीएम ममता ने कहा - यह बहुत बड़ी क्षति

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार में मंत्री सुब्रतो मुखर्जी का गुरुवार रात कोलकाता में निधन हो गया। वे 75 वर्ष के थे। सीएम ममता बनर्जी ने कहा है कि "सुब्रतो दा का जाना बहुत बड़ी क्षति है।"

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार में वरिष्ठ मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुब्रत मुखर्जी का गुरुवार रात कोलकाता में निधन हो गया है। तबीयत खराब होने पर उन्हें कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने आखिरी सांस ली। अस्पताल के मुताबिक उनकी मृत्यु हार्ट अटैक से हुई है। सुब्रत मुखर्जी 75 साल के थे।

सुब्रतो मुखर्जी की मृत्यु की खबर मिलने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एसएसकेएम अस्पताल पहुंची। उन्होंने ही सुब्रतो मुखर्जी की मौत की पुष्टि की। उन्होंने दुख जताते हुए कहा कि यह उनके लिए बहुत बड़ी क्षति है। उन्होंने कहा कि उन्होंने जीवन में बहुत दुख देखे हैं, लेकिन यह दुख बहुत बड़ा है। उन्होंने कहा कि, "सुब्रत मुखर्जी की मृत्यु हमारे लिए बड़ी क्षति है। गोवा से आने के बाद मैं सबसे पहले सुब्रत दा से मिलने अस्पताल आई थी। अचानक से उन्हें दिल का दौरा पड़ा, चिकित्सकों ने कोशिश की लेकिन वो उन्हें बचा नहीं पाए।"


सुब्रतो मुखर्जी की मौत पर तृणमूल के वरिष्ठ नेताओं ने शोक जताया है। वहीं विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने भी सुब्रत मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि, "सुब्रतो मुखर्जी की मौत की खबर सुनकर मुझे बेहद दुख हुआ। उनके परिवार, प्रशंसकों और समर्थकों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।"

पार्टी के वरिष्ठ नेता डेरेक ओ ब्रायन ने भी सुब्रतो मुखर्जी के निधन को बड़ी क्षति बताया है। उन्होंने सुब्रतो मुखर्जी के साथ अपनी तस्वीर साझा करते हुए लिखा, "आप जहां भी होंगे सुब्रत दा (मुखर्जी) अच्छे होंगे। यह तस्वीर मार्च 2021 में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान मेरे दादा के घर पर ली गई थी। वे हमेशा तृणमूल भवन में प्रेस कांफ्रेंस के लिए बड़े उत्साह और समय पर आते थे और उनके भाषण में एक अलग राजनीतिक दृष्टिकोण होता था।"


सुब्रतो मुखर्जी का पार्थिव शरीर कल कोलकाता के रबींद्र भवन में अंतिम दर्शनों के लिए रखा जाएगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia