क्या हैक हुआ कोविन? स्वास्थ्य मंत्रालय का अब सामने आया बयान, जानें पूरा मामला?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविन पोर्टल के आंकड़ों के लीक होने की खबर को सिरे से खारिज कर दिया है। मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि कोविन के आंकड़े लीक नहीं हुए और इसके साथ किसी भी तरह की कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

भारत के वैक्सीन पंजीकरण पोर्टल कोविन के हैक होने और 15 करोड़ लोगों का डेटाबेस बिक्री के लिए तैयार होने की रिपोर्ट सामने आने के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान सामने आया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविन पोर्टल के आंकड़ों के लीक होने की खबर को सिरे से खारिज कर दिया है। मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि कोविन के आंकड़े लीक नहीं हुए और इसके साथ किसी भी तरह की कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने आगे कहा कि कोविन सभी टीकाकरण के रिकॉर्ड को पूरी तरह से सुरक्षित और महफूज रखता है। दरअसल यह रिपोर्ट सामने आई थी कि हैकर्स ने कोविन के आंकड़ों को हैक कर लिया है और 150 मिलियन यूजर्स के आंकड़े लीक हो गए हैं, जिसे बिक्री के लिए रखा गया है।

सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि कुछ अपुष्ट मीडिया रिपोर्ट्स कि कोविन प्लेटफॉर्म को हैक किया गया है। शुरुआती तौर पर ये रिपोर्ट झूठ लग रहे हैं। हालांकि, स्वास्थ्य मंत्रालय और टीकाकरण पर अधिकार प्राप्त समूह मामले को कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम से जांच करा रही है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 11 Jun 2021, 8:57 AM