शरद पवार ने कहा, संविधान बदलने की है मोदी सरकार की नीति, बदलने की कोशिश की तो जनता कर देगी बर्बाद

शरद पवार ने कहा कि पिछले चार सालों में देश में अल्पसंख्यकों, वंचित वर्गों, पिछड़े वर्गों और महिलाओं के खिलाफ अत्याचार बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या करने की देश में कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं और आरोपी खुले में घूम रहे हैं।

फोटो: ncp.org.in
फोटो: ncp.org.in
user

नवजीवन डेस्क

मुंबई में ‘संविधान बचाओ, देश बचाओ’ मुहिम के तहत एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस मौके पर शरद पवार ने केंद्र की बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि सत्तारूढ़ बीजेपी की नीति संविधान को बदलने की है। पवार ने कड़े लहजे में बीजेपी को चेतावनी देते हुए कहा कि जो संविधान को बदलने की कोशिश करेंगे जनता उन्हें बर्बाद कर देगी।

एनसीपी प्रमुख ने कहा कि हम मौजूदा सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए लड़ाई लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई आसान नहीं है, लेकिन हम अंत तक लड़ेंगे।

शरद पवार ने कहा कि पिछले चार सालों में देश में अल्पसंख्यकों, वंचित वर्गों, पिछड़े वर्गों और महिलाओं के खिलाफ अत्याचार बढ़े हैं। उन्होंने कहा, “भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या करने की देश में कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। आरोपी खुले में घूम रहे हैं, लेकिन सरकार कुछ नहीं कर रही है।” पवार ने कहा कि सत्तारूढ़ सरकार संविधान में विश्वास नहीं करती है।

बता दें कि पिछले साल केंद्रीय मंत्री अनंतकुमार हेगड़े ने संविधान को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था, “हम यहां संविधान बदलने के लिए हैं और हम इसे बदल देंगे। हालांकि बाद में उन्होंने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांग ली थी। लेकिन उनकी टिप्पणी की वजह से बीजेपी और मोदी सरकार की काफी किरकिरी हुई थी।

Published: 21 Jun 2018, 9:31 AM
लोकप्रिय