WHO ने फिर दिखाया भारत का गलत नक्शा, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख को बताया देश से अलग

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की वेबसाइट पर एक बार फिर देश का गलत नक्शा दिखाए जाने पर भारत ने वैश्विक संस्था से कड़ी आपत्ति जताई है। भारत ने डब्ल्यूएचओ प्रमुख को पत्र लिखकर कड़े शब्दों में गलती सुधारने को कहा है।

फोटोः WHO
फोटोः WHO
user

नवजीवन डेस्क

वैश्विक संस्था विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा हाल में एक बार फिर भारत के नक्शे को गलत तरीके से दिखाने पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि ने डब्ल्यूएचओ के प्रमुख के समक्ष इस मसले को उठाने के बाद एक कड़ा पत्र भेजकर गलत नक्शे को वेबसाइट से हटाने की मांग की है।

यहां बता दें कि हाल में डब्ल्यूएचओ की वेबसाइट पर जारी किए गए एक नक्शे में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को भारत से अलग दर्शाया गया था, जिसपर काफी विवाद हुआ था। इससे पहले भी डब्ल्यूएचओ के मानचित्रों में भारत की सीमाओं को गलत ढंग से दिखाया जा चुका है।

अब इस पर कड़ा ऐतराज जताते हुए भारत ने वैश्विक संस्था को चेतावनी देते हुए गलती सुधारने को कहा है। भारत की ओर से 8 जनवरी को संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत के स्थायी प्रतिनिधि इंद्रमणि पांडेय द्वारा भेजे गए पत्र में संस्था के प्रमुख को कहा गया है कि डब्ल्यूएचओ के कई वेबपोर्टल पर भारत के नक्शे को गलत तरीके से दिखाया गया है। ऐसे में सभी नक्शों को तुरंत हटाया जाए और गलती का सुधार किया जाए।

भारत की तरफ से इस मुद्दे पर पिछले एक महीने में डब्ल्यूएचओ को तीसरी बार यह पत्र लिखा गया है। इससे पहले, दिसंबर में दो बार डब्ल्यूएचओ चीफ को पत्र लिखा जा चुका है। इस बार भेजे गए पत्र में भारतीय अधिकारी ने कहा कि इस मामले में मैं डब्ल्यूएचओ को भेजे गए पिछले पत्रों की भी याद दिलाना चाहूंगा, जिनमें हमने इन्हीं गलतियों का मुद्दा उठाया था। मैं आपसे इस मामले में तुरंत दखल देखकर भारत की सीमाओं को गलत ढंग से दिखाना बंद करने की गुजारिश करता हूं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next