एक पोस्टर से इतना क्यों डर गई मोदी सरकार? दिल्ली में पोस्टर लगाने पर 100 FIR, 6 लोग गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में दीवारों और खंभों पर लगे पोस्टरों के संबंध में छह लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि 100 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पीएम मोदी के विरोध में एक शब्द भी कहना महंगा पड़ सकता है? वैसे तो लोकतंत्र में लोगों को बोलने की आजादी है, लेकिन पीएम मोदी के खिलाफ मुंह भी खोला तो जेल जाने की नौबत आ सकती है! कुछ ऐसा ही हुआ है राजधानी दिल्ली में। यहां पीएम मोदी के खिलाफ पोस्टर लगाने के आरोप में कुछ लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। दरअसल, दिल्ली पुलिस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में दीवारों और खंभों पर लगे पोस्टरों के संबंध में छह लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि 100 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। पोस्टरों में से एक में 'मोदी हटाओ, देश बचाओ' लिखा हुआ है। सूत्रों के अनुसार, पुलिस ने शहर के कई हिस्सों से 2,000 से अधिक पोस्टर हटा दिए हैं।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि आपत्तिजनक पोस्टर लगाने के लिए 100 प्राथमिकी दर्ज की गई है और छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार लोगों को बाद में जमानत पर रिहा भी कर दिया गया।


अधिकारी ने कहा, प्राथमिकी प्रिंटिंग प्रेस अधिनियम और संपत्ति अधिनियम की धाराओं के तहत दर्ज की गई है। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने आप कार्यालय से बाहर निकलते ही एक वैन को भी रोक लिया। वैन से पोस्टर जब्त किए गए।

पुलिस के एक्शन पर आम आदमी पार्टी (आप) ने बीजेपी और मोदी सरकार पर हमला बोला है। आप ने कहा, "मोदी सरकार की तानाशाही चरम पर है! इस पोस्टर में ऐसा क्या आपत्तिजनक है जो इसे लगाने पर मोदीजी ने 100 लोगों पर एफआईआर कर दी? पीएम मोदी, आपको शायद पता नहीं पर भारत एक लोकतांत्रिक देश है। एक पोस्टर से इतना डर! क्यों?"


विशेष सीपी दीपेंद्र पाठक ने समाचार एजेंसी एएनआई बताया कि, पोस्टरों में प्रिंटिंग प्रेस का ब्योरा नहीं था। मामले में प्रिंटिंग प्रेस अधिनियम और संपत्ति विरूपण अधिनियम की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस मामले में आम आमदी पार्टी (आप) कार्यालय से निकली एक वैन को भी रोका गया। इससे कुछ पोस्टर जब्त किए गए और गिरफ्तारियां की गईं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */