जानलेवा हमला करने वालों पर UAPA क्यों नहीं लगा- ओवैसी ने लोकसभा में किया सवाल, अमित शाह सोमवार को देंगे बयान

ओवैसी ने घटना के बाद केंद्र द्वारा दी गई जेड श्रेणी सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह मौत से डरने वाले नहीं, उन्हें सुरक्षा बिल्कुल नहीं चाहिए। गरीब बचेंगे, तो मैं बचूंगा। मुझे ए कैटेगरी का शहरी बनाइए, जेड श्रेणी की सुरक्षा नहीं चाहिए।

फोटोः वीडियोग्रैब
फोटोः वीडियोग्रैब
user

नवजीवन डेस्क

एआईएमआईएम प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने शुक्रवार को लोकसभा में खुद पर हुए हमले का मुद्दा उठाया। उन्होंने सवाल किया कि सोशल मीडिया पर कुछ भी गलत कहने वालों पर जब यूएपीए लग जाता है, तो जिन लोगों ने उन पर यह हमला किया, उन पर यूएपीए क्यों नहीं लगाया जा रहा है? ओवैसी ने घटना के बाद केंद्र द्वारा दी गई जेड श्रेणी की सुरक्षा को भी लेने से इनकार कर दिया।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि उन पर चार राउंड गोलियां चलाई गईं। उन्होंने कहा, “मैंने 6 फीट नजदीक से गोलियां देखी हैं, अगर मैं संसद में अपनी बात नहीं रखूंगा तो कहां रखूंगा। ये लोग कैसे कट्टर हुए। आखिर ये कौन लोग हैं जो गोली पर भरोसा करते हैं, बैलेट पर नहीं करते। वे अंबेडकर के बनाए संविधान के खिलाफ हैं। भारत की दौलत मोहब्बत है। हरिद्वार, रायपुर, इलाहाबाद के धर्म संसद में मेरे बारे में बहुत कुछ कहा गया। मैं मौत से नहीं डरता। एक दिन तो सबको जाना है।”


ओवैसी ने कहा कि इंटरनल सिक्यूरिटी डिपार्टमेंट में हर धर्म के लोगों का सेल बनाया जाना चाहिए। ये लोग कैसे कट्टर हो गए। इससे सांप्रदायिकता बढ़ेगी। जो गलती एनडीए-1 ने की थी, वही गलती आज हो रही है। इससे देश को नुकसान होगा, सरकार को नुकसान होगा। उन्होंने सरकार से सवाल किया कि सोशल मीडिया पर अगर कोई कुछ गलत कहता है तो उस पर यूएपीए लगता है, लेकिन जिन लोगों ने ये कट्टरता दिखाई है, इन पर यूएपीए क्यों नहीं लगाया जा रहा?

इस दौरान ओवैसी ने केंद्र सरकार द्वारा हमले के बाद दी गई जेड श्रेणी की सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया। ओवैसी ने कहा कि वह मौत से डरने वाला नहीं हैं, उन्हें सुरक्षा बिल्कुल नहीं चाहिए। उन्होंने कहा, “मैं घुटन के साथ जिंदा नहीं रहना चाहता। आजाद जीना चाहता हूं। मुझे गोली लगती है, तो मुझे कबूल है। गरीब बचेंगे, तो मैं बचूंगा। ओवैसी की जान उस वक्त बचेगी, जब गरीब की जान बचेगी। मुझे ए कैटेगरी का शहरी बनाइए, जेड कैटेगरी की सुरक्षा नहीं चाहिए।” गृहमंत्री अमित शाह सोमवार को लोकसभा में इसपर बयान देंगे।


बता दें कि एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी गुरुवार को यूपी चुनाव के प्रचार से दिल्ली लौट रहे थे। रास्ते में हापुड़ टोल प्लाजा पर उनके काफिले पर हमला हुआ। हमला करने वाले दो आरोपियों को लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था। घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है जिसमें आरोपी ओवैसी की गाड़ी पर फायरिंग करते नजर आ रहे हैं। दोनों आरोपियों को शुक्रवार कोर्ट में पेश किया गया, जहां से दोनों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia