क्या लॉकडाउन में विमान सेवा को मिलेगी छूट, स्पाइसजेट कर रही है सोशल डिस्टेंसिंग के साथ उड़ान की तैयारी

एविएशन सेक्टर को उम्मीद है कि लॉकडाउन आग बढ़ने पर विमान सेवा को कुछ शर्तों के साथ छूट मिल सकती है। इन कयासों के बीच ही विमान कंपनियों ने उड़ान सेवा शुरू होने की स्थिति में कोरोना वायरस से बचाव के लिए कई सख्त एहतेयाती कदम उठाने की तैयारी शुरू कर दी हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना संकट को लेकर जारी देशव्यापी 21 दिनों का लॉकडाउन कल 14 अप्रैल को पूरा होने वाला है। देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन अभी जारी रहने की पूरी संभावना है। हालांकि केंद्र सरकार की ओर से अभी इस संबंध में कोई ऐलान नहीं किया गया है, लेकिन बीते दिनों मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पीएम मोदी ने इसी तरह के संकेत दिए हैं। हालांकि, पीएम मोदी कल सुबह देश को संबोधित करने वाले हैं, जिसमें वह लॉकडाउन पर फैसले का ऐलान कर सकते हैं।

इस बीच इस बात को लेकर भी अटकलें शुरू हो गई हैं, कि अगर लॉकडाउन बढ़ता है तो क्या लोगों की परेशानियों को देखते हुए कुछ सेवाओं में छूट दी जाएगी। इस तरह की अटकलें विमान सेवा क्षेत्र में भी लगाई जा रही हैं। एविएशन सेक्टर को उम्मीद है कि विमान सेवा को आगे लॉकडाउन से कुछ शर्तों के साथ छूट मिल सकती है। हालांकि ये सब अभी कयास ही है। लेकिन, इन कयासों के बीच ही विमान कंपनियों ने उड़ान सेवा शुरू होने की स्थिति में कोरोना संकट को देखते हुए एहतेयाती कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।

प्रमुख एयरलाइंस कंपनी स्पाइसजेट ने तो इसके लिए एक व्यापक खाका तैयार कर लिया है। स्पाइसजेट नए प्रोटोकॉल के साथ फिर से उड़ान सेवा शुरू करने के लिए पूरी तैयारी कर रही है, ताकि जब परिचालन शुरू हो तो जो भी प्रोटोकॉल नियम हों, उन्हें बेहतर तरीके से निभाया जा सके। इसके तहत कंपनी ने विमान में सामाजिक दूरी जैसे मानदंडों के पालन का व्यापक खाका तैयार किया है। साथ ही चेक-इन काउंटरों से लेकर टर्मिनल पर चलने वाली बसों और विमान में सवार होने तक की प्रक्रिया के लिए विशेष हिदायतों पर जोर दिया जा रहा है।

स्पाइसजेट ने विमान में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए कोच और विमान की सीटों को 'एक्स' निशान के साथ चिह्न्ति किया है। यहां तक कि विमान में चढ़ने वाली सीढ़ी को भी विशेष स्याही से ठीक प्रकार से चिह्न्ति किया गया है, जो कि रात को चमकेगी, जिससे रात में यात्रियों के बीच एक मीटर तक की दूरी बनाए रखने में आसानी होगी। इसके अलावा एयरलाइन इन नई परिस्थितियों में ऑन-बोर्ड और ऑफ-बोर्ड को संचालित करने के लिए चालक दल को प्रशिक्षित कर रही है।

पिछले महीने विमानन नियामक डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने विमान के अंदर यात्रियों को एक दूसरे के बगल में नहीं बैठाने और दो यात्रियों के बीच एक सीट का गैप रखने का निर्देश दिया था। डीजीसीए के परिपत्र में कहा गया है कि चेक-इन के समय सीट आवंटन दो यात्रियों के बीच सीट को खाली रखते हुए किया जाना चाहिए। यह निर्णय दो यात्रियों के बीच सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने और कोरोना संक्रमण के प्रसार से बचने के उद्देश्य से किया गया था।

स्पाइसजेट ने डीजीसीए के दिशानेर्देशों के पालन के लिए ब्लूप्रिंट तैयार करने के अलावा हाल ही में घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों मार्गों पर मेडिकल कार्गो की सबसे बड़ी खेप के आदान-प्रदान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। स्पाइसजेट ने लॉकडाउन शुरू होने के बाद से 220 उड़ानों का संचालन किया है, जिसमें 1,850 टन से अधिक कार्गो शामिल रहा। यह अन्य सभी घरेलू एयरलाइनों से दोगुना है, जिसमें 61 अंतर्राष्ट्रीय कार्गो उड़ानें भी शामिल हैं। स्पाइसजेट ने अबू धाबी, कुवैत, सिंगापुर, हो ची मिन्ह सिटी, हांगकांग और अन्य स्थानों पर विशेष आपूर्ति के लिए कार्गो उड़ानें संचालित की हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia