दिल्ली में लगेगा लॉकडाउन? बढ़ते कोरोना के बीच केजरीवाल के स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा बयान

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि देश की राजधानी होते हुए दिल्ली ने सबसे पहले सबसे ज्यादा प्रतिबंध लगा दिए हैं, ऐसा लगता नहीं है कि अभी लॉकडाउन की जरूरत है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में लागातार कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि देश की राजधानी होते हुए दिल्ली ने सबसे पहले सबसे ज्यादा प्रतिबंध लगा दिए हैं, ऐसा लगता नहीं है कि अभी लॉकडाउन की जरूरत है।

दिल्ली में बुधवार को दिल्ली में कोरोना केस 10 हजार के पार दर्ज किए गए थे, वहीं 8 मरीजों की मृत्यु भी हुई है। राज्य में अब संक्रमण दर साढ़े 11 फीसदी से अधिक पहुंच गई है। वहीं, दिल्ली में कोरोना संक्रमण के कारण हुई कुल मृत्यु का आंकड़ा कुल 25,121 हो गया। राजधानी में पिछले 24 घंडे में कुल 2239 मरीज ठीक होकर अपने घर वापस जा चुके हैं। दूसरी ओर कोरोना की संक्रमण दर 11.88 फीसदी हो गई है, साथ ही पिछले 24 घण्टे में 10,665 नए मामले सामने आए हैं।

दिल्ली में सक्रिय कोरोना मरीजों की संख्या 23,307 हो गई है। इसके अलावा दिल्ली के विभिन्न कोविड अस्पतालों में कुल 782 मरीज मौजूदा भर्ती हैं। इनमें कुल 103 मरीज दिल्ली के बाहर से हैं और 610 मरीज दिल्ली राज्य से हैं। साथ ही 551 मरीज बिना ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं, वहीं 140 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं और 22 मरीज वेंटिलेटर पर हैं।


उधर, दिल्ली सरकार ने अपने अस्पतालों में बेड्स की संख्या में इजाफा करने का फैसला लिया है ताकि जरूरत के वक्त इस्तेमाल किया जाए और दिल्लीवासियों को परेशान न होना पड़े। दिल्ली सरकार ने अपने 9 सरकारी अस्पतालों में कोविड बेड्स की संख्या 3316 से बढ़ाकर 4350 बेड्स करने का कदम उठाया है। इनमें इंदिरा गांधी अस्पताल, लोक नायक अस्पताल, गुरु तेग बहादुर अस्पताल, बुराड़ी अस्पताल, राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, अंबेडकर अस्पताल, डीडीयू अस्पताल, डीसीबी अस्पताल और डॉक्टर बाबासाहेब अंबेडकर अस्पताल शामिल हैं।

आंकड़ों की बात करें तो इंदिरा गांधी अस्पताल में 1181 बेड्स से बढ़ाकर 1500 बेड्स किए गए हैं, वहीं लोक नायक हॉस्पिटल में 650 से बढ़ाकर 750 बेड्स किये गए हैं। इसके अलावा गुरु तेग बहादुर हॉस्पिटल में भी 600 से बढ़ाकर 750 बेड्स किए गए हैं। वहीं बुराड़ी अस्पताल में 300 बेड्स से 400 बेड्स कर दिया गया है। साथ ही राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में 150 बेड्स से बढ़ाकर 300 बेड्स किये गए हैं।

वहीं, अंबेडकर नगर अस्पताल में 135 बेड्स से 200 बेड्स करने का फैसला लिया है, साथ ही दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में 100 बेड्स से 150 बेड्स हुए हैं। इसके अलावा दीपचंद बंधु अस्पताल में 100 बेड्स से 150 बेड्स हुए और डॉ बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल में 100 बेड्स से बढ़ाकर 150 बेड्स किए गए हैं।

इसके अलावा इन 9 अस्पतालों के एमएस, एमडी और डायरेक्टर को यह भी निर्देश दिया गया है कि जरूरत के हिसाब से मैन-पावर, इक्विपमेंट आदि का भी इंतजाम जल्द से जल्द कर लें ताकि मरीजों को कोई परेशानी ना आये।

दूसरी ओर राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर 11.88 फीसदी हो गई है साथ ही पिछले 24 घंटे में 10665 नए मामले सामने आए हैं। वहीं दिल्ली में सक्रिय कोरोना मरीजों की संख्या 23307 हो गई है। इसके अलावा दिल्ली के विभिन्न कोविड अस्पतालों में कुल 782 मरीज मौजूदा वक्त में भर्ती हैं। इनमें कुल 103 मरीज दिल्ली के बाहर से हैं और 610 मरीज दिल्ली राज्य से हैं। साथ ही 551 मरीज बिना ऑक्सीजन सपोर्ट पर है, वहीं 140 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं और 22 मरीज वेंटिलेटर पर हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 06 Jan 2022, 11:51 AM