दिल्ली में मेट्रो स्टेशन की एक्सरे मशीन ने पकड़े बैग में भरे एक करोड़ रुपए, लड़का-लड़की हिरासत में

राजधानी दिल्ली के जंगपुरा मेट्रो स्टेशन पर गुरुवार सुबह एक युवक-युवती से एक करोड़ रुपए बरामद हुए। यह रुपए उन्होंने बैग में रखे थे, जिन्हें एक्सरे मशीन ने पकड़ लिया। दोनों से इनकम टैक्स विभाग के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं।

फोटो : आईएएनएस
फोटो : आईएएनएस

आईएएनएस

देश की राजधानी के एक मेट्रो स्टेशन पर गुरुवार को युवक-युवती के कब्जे से एक करोड़ रुपये बरामद होने पर सनसनी फैल गई। दिल्ली मेट्रो के किसी यात्री के पास से जब्त अब तक की यह सबसे बड़ी रकम बताई जा रही है। मेट्रो की सुरक्षा में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने पूरे मामले की जानकारी आयकर विभाग को दे दी है। आयकर विभाग की टीम आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।

सीआईएसएफ के प्रवक्ता (सहायक महानिरीक्षक) हेमेंद्र सिंह के मुताबिक, इतनी बड़ी रकम की बरामदगी दिन में करीब 11 बजे के आसपास हुई। युवक-युवती को उस वक्त पकड़ा गया, जब वे एक करोड़ एक हजार रुपये के साथ जंगपुरा मेट्रो स्टेशन पर पहुंचे।

सीआईएसएफ ने युवक-युवती के सामान की जब गहराई से छानबीन की, तो यह रकम बरामद हुई। इतनी बड़ी रकम के बारे में संदिग्ध युवक-युवती कोई संतोषजनक जबाब नहीं दे पाए। युवक का नाम विकास चौहान (20) और युवती का नाम आरती (20) है।

सीआईएसएफ प्रवक्ता ने आईएएनएस को आगे बताया, "विकास चौहान राजस्थान के शुकूरपुर का रहने वाला है। उसके साथ पकड़ी गई युवती मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वाली है।"

मेट्रो स्टेशन पर इतनी बड़ी मात्रा में भारतीय मुद्रा मिलने की सूचना पाकर सीआईएसएफ के महानिरीक्षक (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र) सुधीर कुमार, दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन और सीआईएसएफ के उप-महानिरीक्षक रघुवीर लाल भी मौके पर पहुंचे। पूछताछ के दौरान संदिग्ध युवक-युवती के जवाब से दोनों अधिकारी जब संतुष्ट नहीं हुए तो उन्होंने इसकी सूचना आयकर अधिकारियों को दे दी।

आयकर विभाग की टीमें फिलहाल छानबीन में जुटी हैं। अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि युवक-युवती को एक करोड़ एक हजार रुपये किसने दिये थे? ये रुपये कहां से भेजे गए थे और कहां पहुंचाए जाने थे?

आईएएनएस को विश्वस्त सूत्रों से पता लगा है कि पकड़ी गई युवती को ये रुपये मध्य प्रदेश में किसी ने दिए थे। कहा गया कि इस बैग को दिल्ली के चांदनी चौक इलाके में लेकर पहुंचाया जाना था। युवक-युवतीरुपयों से भरे बैग को चांदनी चौक पहुंचा पाते, उससे पहले ही पकड़ लिए गए। जांच में इस बात के भी संकेत मिले हैं कि ये रुपये हवाला के हो सकते हैं।

लोकप्रिय