उत्तर प्रदेश में बारिश को लेकर यलो अलर्ट जारी, फसलों की बर्बादी से परेशान किसानों को फिलहाल राहत नहीं!

मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान की ओर से भारत के उत्तर-पश्चिम के इलाकों में बढ़ रहा है। साथ ही बंगाल की खाड़ी की ओर से आ रही नम हवाओं के इससे टकराने की संभावना है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के किसानों को फिलहाल बारिश से राहत मिलती नहीं दिख रही है। मौसम विभाग ने बारिश को लेकर एक बार फिर यलो अलर्ट जारी किया है। आज से अगले तीन दिनों तक मौसम विभाग ने बारिश की संभावना जताई है। राजधानी समेत कई जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ और बंगाल की खाड़ी से आ रही पुरवा नम हवाओं के टकराने से ऐसे मौसम का संयोग बन रहा है।

मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान की ओर से भारत के उत्तर-पश्चिम के इलाकों में बढ़ रहा है। साथ ही बंगाल की खाड़ी की ओर से आ रही नम हवाओं के इससे टकराने की संभावना है। ऐसे में उत्तर प्रदेश में बारिश की संभावना बन रही है। नोएडा में पूर्वानुमान से पहले ही इसकी शुरुआत भी हो गई है। मौसम के पूर्वानुमान के मुताबिक, बुधवार देर शाम से शुरू हुई बारिश शनिवार तक हो सकती है। मौसम के पूर्वानुमान के अनुसार आगे के दिनों में अधिकतम तापमान 32 और न्यूनतम 15 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा सकता है।


पिछले दिनों उत्तर प्रदेश में बारिश होने और ओले गिरने ने किसानों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। बारिश और ओले से किसानों को भारी नुकसान पहुंचा है। गेहूं, दलहन और आम की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। जाहिर है खेतों में गेहूं पक कर तैयार हो गया है। लेकिन गेहूं की कटाई से पहले बारिश हो गई, जिससे खते में फसल गिर पड़े। दलहन की फसलों के साथ भी यही हुआ है। उधर, बारिश और आंधी की वजह से आम की फसल को काफी नकुसान पहुंचा है। इसके अलावा जो किसान आलू और प्याज की फसलों को लेकर कोल्ड स्टोरेज के बाहर खड़े थे, उन्हें भी काफी नुकसान पहुंचा है। कोल्ट स्टोरेज में रखने से पहले ही आलू प्याज भीग गया, जिससे किसानों को इसे सड़ने का डर सता रहा है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;