उत्तर प्रदेश की पूरी सरकारी मशीनरी विपक्ष को रोकने में जुटी, प्रियंका, अखिलेश, संजय सिंह हिरासत में, कुछ नेता नजरबंद

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में कल हुई घटना के बाद उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार की पूरी मशीनरी विपक्षी नेताओं को रोकने में जुटी हुई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी समेत तमाम नेताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है। कुछ को घरों में नजरबंद किया गया है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

लखीमपुर खीरी की घटना के बाद पीड़ितों को न्याय देने या घटना की निष्पक्ष जांच कराए जाने के बजाय उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार ने पूरी ताकत विपक्षी नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने से रोकने में लगा दी है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को कल रात पहले घर में नजरबंद करने की कोशिश की गई, इसके बाद जब उनका काफिला लखीमपुर खीरी के लिए निकला तो उन्हें जाने नहीं दिया गया। किसी तरह वह वहां से निकलीं, तो उन्हें लखीमपुर खीरी पहुंचते ही हिरासत में ले लिया गया।

उधर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव को भी लखीमपुर खीरी जाने से रोका गया, जिस पर वे अपने घर के बाहर धरने पर बैठे। लेकिन उन्हें हिरासत में ले लिया गया है।


इसके अलावा आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह को सीतापुर में हिरासत में लिया गया है। वे भी कल रात लखीमपुर जाने की कोशिश कर रहे थे।

इतना ही नहीं छत्तीसगढ़ और पंजाब के मुख्यमंत्रियों क्रमश: भूपेश बघेल और चरणजीत सिंह चन्नी को भी लखनऊ पहुंचकर लखीमपुर खीरी जाना था, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने उनके विमान न उतरने का फरमान जारी किया है।


इस बीच बीजेपी सरकार तरह-तरह के बयान जारी कर ही है। यूपी के नेता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा है कि विपक्ष राजनीतिक पर्यटन करना चाहता है।

पूरी घटना यह है कि कल लखीमपुर जिले में यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का कार्यक्रम था। किसानों ने अपनी मांगों के समर्थन में डिप्टी सीएम को काले झंडे दिखाते हुए विरोध प्रदर्शन किया था। इसी बीच कथित तौर पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र ने अपनी काफिले की कार प्रदर्शन कर रहे किसानों पर चढ़ा दी। इस हादसे में चार किसानों की मौत हो गई। आरोप है कि कारों की तरफ से गोली भी चलाई गई। इससे गुस्साए लोगों ने गाड़ियों पर पथराव किया जिससे गाड़ियां दुर्घटनाग्रस्त हुईं और उसमें एक कार के चालक समेत चार लोगों की मौत हुई। इसी दौरान कुछ गाड़ियों को आग भी लगाई गई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia