लखीमपुर हिंसा में कार्रवाई ही नहीं करना चाहती योगी सरकार, समन भी कांग्रेस के दबाव में भेजा गया- पवन खेड़ा

पवन खेड़ा ने कहा कि गृह राज्य मंत्री इतना कुछ हो जाने के बाद भो पद पर बने हुए हैं। कांग्रेस सरकार में आरोप भले साबित नहीं हुए, लेकिन इस्तीफा ले लिया जाता था। हमारी मांग है कि प्रधानमंत्री लोकतंत्र की रक्षा के लिए 24 घंटे में अजय मिश्रा को बर्खास्त करें।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में कांग्रेस ने आज आरोप लगाया कि योगी सरकार कोई कार्रवाई ही नहीं करना चाहती, यहां तक कि आरोपी को समन भी कांग्रेस के दबाव में भेजा गया है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि आज समय आ गया है, जब प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को राजधर्म याद दिलाने की जरूरत है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि जब से यूपी के लोगों पर सीएम के रूप में योगी आदित्यनाथ को 'थोपा' गया है, तब से योगी फिल्मी डायलॉग की तरह बड़ी-बड़ी बातें बोलते हैं। उन्हें ये पता होना चाहिए कि सरकारें फिल्मी डायलॉग से नहीं चलतीं, राजधर्म से चलती हैं।


पवन खेड़ा ने कहा कि सरकार चलाने के लिए त्याग करना पड़ता है, राजधर्म का निर्वाह करना पड़ता है। राजधर्म एक ऐसा शब्द है, जिसे गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री मोदी को देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने याद दिलाई थी। आज फिर वो समय आ गया है, जब प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को राजधर्म याद दिलाने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि गृह राज्य मंत्री इतना कुछ हो जाने के बाद भो अपने पद पर बने हुए हैं। कांग्रेस की सरकारों में आरोप भले ही साबित नहीं हुए, लेकिन आरोप लगने पर इस्तीफा ले लिया जाता था। हमारी मांग है कि प्रधानमंत्री लोकतंत्र की रक्षा के लिए 24 घंटे में अजय मिश्रा को बर्खास्त करें।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia